खेल

आनंद ने लिया हार का बदला,14 साल बाद जीता पहला विश्व रैपिड शतरंज खिताब

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
59
| दिसंबर 29 , 2017 , 16:05 IST

रैपिड चेस चैंपियनशिप में उतरे भारतीय शतरंज चैंपियन विश्वनाथन आनंद ने रियाद में खेले गए चैंपियनशिप का वर्ल्ड खिताब अपने नाम कर लिया है। चौदह साल बाद पहला रैपिड विश्व खिताब जीतने वाले भारत के धुरंधर शतरंज खिलाड़ी विनाथन आनंद ने कहा कि वह निराशावादी सोच के साथ टूर्नामेंट में उतरे थे लेकिन अपराजेय अभियान के साथ विश्व खिताब जीतकर खुद हैरान हैं।
खिताबी मुकाबले में विश्वनाथन आनंद ने नार्वे के मैग्रस कार्लसन को हराया।

गौरतलब है कि मैग्रस कार्लसन ने साल 2013 में आनंद को मात देते हुए उनसे नंबर-1 का ताज छीनकर अपने नाम कर लिया था। आनंद ने दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी कार्लसन को नौवे दौर में हराकर 2013 विश्व चैम्पियनशिप में मिली हार का बदला चुकता कर लिया। उन्होंने 2013 में यह खिताब कार्लसन को गंवाया था जबकि 2003 में उन्होंने फाइनल में ब्लादीमिर क्रामनिक को हराकर खिताब जीता था।

Main-qimg-a49325bb92eb04a830881ff9de26acad-c

जीत के बाद उन्होंने कहा, पिछले दो रैपिड टूर्नामेंट काफी खराब रहे थे। मैं यहां निराशावादी सोच के साथ उतरा था लेकिन यह अद्भुत सरप्राइज रहा लेकिन मैने अच्छा खेला।
वह आखिरी पांच राउंड की शुरूआत के वक्त संयुक्त दूसरे स्थान पर थे जब रूस के ब्लादीमिर फेडोसीव और इयान नेपोम्नियाश्चि के भी 15 में से 10.5 अंक थे। आनंद ने टाइब्रेकर में फेडोसीव को 2-0 से हराकर खिताब जीता।

आनंद ने 14वें राउंड में सफेद मोहरों से रूस के अलेक्जेंडर ग्रिसचुक को हराने से पहले दो डा खेले. दूसरी ओर कार्लसन को रूस के ब्लादीस्लाव अर्तेमीव ने डा पर रोका जिससे आनंद उनके साथ संयुक्त शीर्ष पर आ गए।

आखिरी दौर में आनंद ने चीन के बू शियांग्जी से ड्रा खेला जबकि कार्लसन को ग्रिसचुक के हाथों अप्रत्याशित हार झेलनी पड़ी। पंद्रह दौर के बाद आनंद छह जीत और नौ ड्रा के बाद अपराजेय रहे. इस सत्र में खराब फार्म से जूझ रहे आनंद ने वर्ष का अंत खिताबी जीत से करके नये सत्र के लिये उम्मीदें जगाई हैं।

 


कमेंट करें