नेशनल

डेंगू और चिकनगुनिया की मार झेल रहे भारत पर हो सकता है 'इबोला' का अटैक

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
187
| अप्रैल 13 , 2017 , 11:59 IST | नई दिल्ली

पूरी दुनिया में खौफ फैलाने वाली बीमारी ईबोला भारत में भी फैल सकती है। एक रिपोर्ट में ये बात सामने आई है कि भारत समेत दक्षिण एशियाई देश इबोला और जीका जैसी बीमारियों के लिए काफी संवेदनशील हैं। इन देशों में ऐसी बीमारी से लड़ने के लिए स्वास्थ्य व्यवस्था अपर्याप्त है।

5c12226c3fc0dfb5c76b6e5cae17ab5e

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत समेत दक्षिण एशियाई देशों में जीका और इबोला जैसी बीमारियों से लड़ने के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं अपर्याप्त हैं। ये क्षेत्र पहले से ही एचआईवी, मलेरिया, डेंगू जैसी बीमारियों की मार झेल रहे हैं। ऐसे में अगर इबोला जैसी खतरनाक बीमारी इन देशों में फैलती है तो वो महामारी का रूप ले सकती है।

26-ebola

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल बीएमजे में प्रकाशित दक्षिण एशिया में स्वास्थ्य पर 12 विश्लेषणों के संग्रह में कहा गया है-

1960 के दशक में कई दक्षिण एशियाई देशों में डेंगू के संक्रमण के छिटपुट मामले देखे गए, लेकिन नियमित महामारी 1990 के दशक की शुरूआत में भारत और श्रीलंका में देखी गई। भारत और श्रीलंका में 40 वर्ष की आयु तक 90 से 95 फीसदी वयस्क डेंगू के विषाणु से प्रभावित हो चुके होते हैं जबकि 41 फीसदी चिकनगुनिया से संक्रमित हो चुके हैं।

Ebola-Africa-Shape-Pandemic

भारतीय एक्सपर्ट ने भी माना है कि ईबोला संक्रमण का जलवायु से कोई लेना-देना नहीं है। ये वायरस भारतीय जलवायु में भी उतनी ही तेजी से फैल सकता है, जितनी तेजी से दूसरे देशों की जलवायु में। ये संक्रमण की बीमारी है। ईबोला मरीज या उसके शरीर से बाहर निकलने वाले पदार्थों जैसे खून, लार, मल-मूत्र आदि के संपर्क में आने पर ही यह वायरस फैलता है।


कमेंट करें