इंटरनेशनल

G-20 सम्मेलन के विरोध में सड़कों पर उतरे प्रदर्शनकारी, हिंसा में 76 घायल

अनुराग गुप्ता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
376
| जुलाई 7 , 2017 , 15:28 IST | हैम्बर्ग

जर्मनी में हो रहे जी-20 शिखर सम्मेलन के विरोध में गुरुवार को पुलिस के साथ संघर्ष के दौरान करीब 76 प्रदर्शनकारी घायल हो गए। वैश्वीकरण-विरोधी 'वेल्कम टू हेल' शांतिपूर्ण रैली ने शाम होते-होते हिंसक रूप ले लिया। प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को पानी की बौछारें, मिर्च स्प्रे और लाठीचार्ज का सहारा लेना पड़ा।

रिपोर्ट के अनुसार, 'वेल्कम टू हेल' रैली हैम्बर्ग शहर में हो रही जी-20 बैठक और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आगमन के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों में से एक है। पुलिस ने कहा कि उसे पहले से यूरोप और अन्य क्षेत्रों से एक लाख संभावित हिंसक प्रदर्शनकारियों के यहां एकत्र होने की आशंका थी, जिसके मद्देनजर शहर में बीस हजार से अधिक अधिकारियों को तैनात किया गया था।

पुलिस ने बार-बार पूंजीवाद-विरोधी प्रदर्शनकारियों के एक समूह को अपने चेहरों से मास्क को हटाने के लिए कहा और जब उन्होंने ऐसा नहीं किया तो उन्हें प्रदर्शन कर रहे लोगों के समूह से अलग कर दिया गया। काले मुखौटे पहने इन प्रदर्शनकारियों ने एक पुलिस वाहन पर बोतलों और ईंटों से हमला किया और उसकी खिड़की को तोड़ दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी तीन दिन की ऐतिहासिक इज़राइल यात्रा पूरी करने के बाद जी-20 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए जर्मनी के हैम्बर्ग शहर पहुंच गए हैं। प्रधानमंत्री हैम्बर्ग में 7-8 जुलाई को जी-20 शिखर-सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। बता दें कि जी-20 शिखर सम्मेलन में इस साल का विषय 'शेपिंग एन इंटर-कनेक्टिड वर्ल्ड' रखा गया है।

बीती रात पीएम कार्यालय ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि, पीएम मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने हैम्बर्ग पहुंच चुके हैं। शिखर सम्मेलन में अहम बहुपक्षीय एवं द्विपक्षीय बातचीत होगी। इस सम्मेलन में भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी के अलावा ब्राजील, रूस, चीन और दक्षिण अफ्रीका के नेता भी हिस्सा लेंगे और कुछ नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठकें भी करेंगे।

वीडियो देखें:-


कमेंट करें