राजनीति

सुपरस्टार रजनीकांत की राजनीति में एंट्री, नई पार्टी बनाकर लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
686
| दिसंबर 31 , 2017 , 09:40 IST

तमिल सिनेमा के सुपरस्टार रजनीकांत वर्ष 2017 के अंतिम दिन रविवार को बड़ा ऐलान किया। रजनीकांत ने का कि मैं राजनीति में आने से नहीं डरता, मैं मीडिया से डरता हूं। रजनीकांत ने कहा कि मैं राजनीति में एंट्री कर रहा हूं।

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु की जनता का सिर नहीं झुकने दूंगा। मैं अपने प्रशंसकों को धन्यवाद करता हूं जैसा कि लोगों ने 6 दिन तक मेरे फैसले का इंतजार किया।

जयललिता के निधन के बाद दक्षिण की राजनीति में एक लोकप्रिय चेहरे की कमी महसूस की जा रही थी। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि रजनीकांत इस खाली जगह को भर सकते हैं।

फैंस से मुलाकात के बाद उन्होंने श्री राघवेंद्र कल्याण मंडपम में कहा, 'मेरा राजनीति में आना तय है। मैं अब राजनीति में आ रहा हूं। यह आज की सबसे बड़ी जरूरत है।'

उन्होंने आगे कहा कि वह अपनी नई राजनीतिक पार्टी बनाएंगे। उन्होंने घोषणा की कि अगले विधानसभा चुनावों में वह राज्य की सभी विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेंगे। रजनीकांत ने कहा, 'मेरी पार्टी के तीन मंत्र होंगे, सच्चाई, मेहनत और विकास'।

उन्होंने कहा, 'राजनीति की दशा काफी खराब हो गई है. सारे राज्य हमारा मजाक बना रहे हैं। अगर मैं राजनीति में नहीं आता हूंं तो यह लोगों के साथ धोखा होगा।'

रजनीकांत ने आगे कहा कि आज राजनीति के नाम पर नेता हमसे हमारा पैसा लूट रहे हैं और अब इस राजनीति को जड़ से बदलने की जरूरत है।

दक्षिण भारत के जानेमाने फिल्म अभिनेता ने कहा, 'जहां भी सत्ता का दुरुपोयग होगा, मैं उसके खिलाफ खड़ा रहूंगा। उन्होंने कहा कि आज चारों ओर भ्रष्टाचार है और राजनीति का सिर्फ नाटक हो रहा है।'

उनके इस ऐलान के बाद ही समर्थकों में जबरदस्त उत्साह देखा गया और लोग झूमने लगे। 

इससे पहले रजनीकांत ने कहा था, 'मेरे राजनीति में आने को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं। मैं अपना निर्णय 31 दिसंबर को बताउंगा। मैं राजनीति में नया नहीं हूं। मुझे पता है कि राजनीति में आने के बाद क्या नुकसान है, यही कारण है कि मैं अनिच्छुक हूं।'

उन्होंने कहा था, 'हमें राजनीति में आने के लिए विवेक और रणनीति दोनों की जरूरत होती है। यदि आपने युद्ध के मैदान में कदम रखा तो आपको जीतना होगा। युद्ध मतलब चुनाव। मैं आज भी आभारी हूं, जब जयललिता मुझसे मिलने मेरे घर आई थीं।'

राजनीति में आने की खबरों को लेकर उनकी पत्नी ने कहा कि यह उनका व्यक्तिगत फैसला है और वह अपने पति के किसी भी फैसले में उनका साथ देंगी।


कमेंट करें