नेशनल

उन्नाव गैंगरेप केस : पीड़िता के चाचा ने कहा गांव से 2 लोग हुए लापता

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
343
| अप्रैल 15 , 2018 , 16:32 IST

उन्नाव रेप केस थमने के बजाय और बढ़ते ही जा रहा हैं। गांव में लोगो के गायब होने की खबरे सामने आ रही हैं। पीड़िता के चाचा ने आरोप लगाया है कि मेरा भतीजा चार दिन से लापता है। परिजन ने कहा कि बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके भाई अतुल सिंह सेंगर मेरे परिवार वालो को जान से मारने की धमकी भी दे रहे हैं। कल वे दो कारों से गांव गए और गांव वालों को चुप रहने या गांव छोड़ने की धमकी दी।दो लोग लापता भी हैं।

हाई कोर्ट ने भी योगी आदित्यनाथ को ठहराया दोषी

शनिवार को अदालत ने कुलदीप सेंगर को सात दिनों की सीबीआई कस्टडी में भेज दिया।इस मसले पर सुनवाई करते हुए इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा था कि अगर साल भर पहले सीएम योगी आदित्यनाथ के कार्यालय की तरफ से कार्रवाई के नाम पर रस्म अदायगी नहीं हुई होती तो पीड़िता का पिता नहीं मरता। राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर आरोपी विधायक को संरक्षण देने के आरोप लग रहे थे। शुक्रवार को ही सीबीआई ने आरोपी विधायक को हिरासत में लेकर पूछताछ की फिर कोर्ट के आदेश पर गिरफ्तार कर लिया। विधायक के खिलाफ तीन केस दर्ज किए गए हैं।

कांग्रेस ने भी योगी पर साधा निशाना

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि सीएम योगी आदित्यनाथ उन्नाव बलात्कार मामले में असली दोषी हैं। राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर आरोपी विधायक को संरक्षण देने के आरोप लग रहे थे। शुक्रवार को ही सीबीआई ने आरोपी विधायक को हिरासत में लेकर पूछताछ की फिर कोर्ट के आदेश पर गिरफ्तार कर लिया। विधायक के खिलाफ तीन केस दर्ज किए गए हैं। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक बयान में इलाहाबाद हाई कोर्ट की टिप्पणी का हवाला दिया और आदित्यनाथ पर निशाना साधा।

CBI रिमांड पर विधायक

63747998

उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट से राहत नहीं मिली है। सीजेएम सुनील कुमार ने शनिवार को दो घंटे तक चली सुनवाई के बाद विधायक को 7 दिन की सीबीआई रिमांड पर भेजा है। सीबीआई ने 14 दिन की रिमांड की मांग की थी। कोर्ट ने सीबीआई से विधायक को 21 अप्रैल सुबह 10 बजे दोबारा पेश करने के लिए कहा है।

क्या है पूरा मामला

- मामला पिछले साल 4 जून का है। 17 साल की किशोरी की मां ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत कुछ लोगों के खिलाफ रेप की शिकायत की थी।
- 3 अप्रैल को विधायक के भाई अतुल ने मुकदमा वापस लेने का दबाव बनाया।
- 8 अप्रैल रविवार को पीड़िता ने परिवार समेत मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया था।।
- 9 अप्रैल को पीड़िता के पिता की उन्नाव जेल में मौत हो गई। महिला ने उन्नाव में परिवार के खिलाफ कई झूठे मुकदमे दर्ज कराए जाने का भी आरोप लगाया था।
- मामले में माखी थाने के एसओ समेत 6 कॉन्स्टेबल पहले ही सस्पेंड किए जा चुके हैं।




कमेंट करें