खेल

2005 में फाइनल का नहीं हुआ था लाइव टेलिकास्ट, इस बार 10 करोड़ दर्शक देखेंगे मैच

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
266
| जुलाई 23 , 2017 , 09:46 IST | नई दिल्ली

जिस लाड्स के मैदान पर भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम ने 1983 में अपना पहला वर्ल्ड कप जीता था। आज फिर उसी मैदान पर एक बार फिर से महिला क्रिकेट टीम के पास इतिहास दौरान का मौका है। जिस फार्म के साथ भारतीय महिला टीम खेल रही है उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि इंग्लैंड को पटखनी देकर एक बार फिर से खिताब पर अपना कब्जा जमा लेगी।

Kapil_1500765392

ये दूसरा मौका है जब भारतीय महिला टीम वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची है। इससे पहले जब 2005 में भारत ने फाइनल खेला था उस वक्त मैच का लाइव टेलिकास्ट भी नहीं हुआ था। लेकिन पिछले 12 सालों में बहुत कुछ बदल चुका है। अब ना सिर्फ मैच का लाइव टेलिकास्ट होता है, बल्कि मैदान में भी मैच देखने वाले दर्शकों की भारी भीड़ देखने को मिलती है।

उस पूरे वर्ल्ड कप में ये तीसरा मौका है जब मैच के सभी टिकट पहले ही बुक हो चुके हैं। जी हैं, स्टेडियम में 26 हजार 500 लोगों के लिए टिकट और सीट निर्धारित किए गए थे जो पहले ही बिक चुके हैं। इससे पहले के दो मैचों में सभी सभी टिकट बिके थे। वो दोनों मैच भी भारतीय टीम के ही थे। एक दिलचस्प बात ये भी है कि फाइनल मैच की 50 प्रतिशत टिकट खरीदार महलाएं ही हैं।

Untitled-4_1500764769

वुमन्स वर्ल्ड कप का आईसीसी साइट पर 3.2 करोड़ पेज व्यू यानी इतने लोगों ने देखा है। साइट पर 7.5 करोड़ बार वीडियो कंटेंट देखे गए। 2013 वर्ल्ड कप की तुलना में टूर्नामेंट की 80% ज्यादा व्यूअरशिप रही। वहीं, भारत में 2013 की तुलना में 47% व्यूअरशिप बढ़ी। ब्रिटेन में 50% और ऑस्ट्रेलिया में 300% बढ़ोतरी हुई।

6173 रन के साथ मिताली महिला क्रिकेट में दुनिया की सबसे ज्यादा रन बनाने वाली वनडे प्लेयर हैं। 192 विकेट के साथ झूलन सबसे कामयाब गेंदबाज हैं।


कमेंट करें