ख़ास रिपोर्ट

वहां शरीर पर ब्लेड के निशान से तय होती है खूबसूरती और ताकत, देखिए तस्वीरें

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
349
| अप्रैल 15 , 2017 , 20:21 IST | इथियोपिया

कई प्रथाएं ऐसी होती जिसे लोग अपनी मर्ज़ी से निभाते हैं और कुछ ऐसी होती हैं जिसे ज़बरदस्ती निभाने के लिए मजबूर किया जाता हैं। ऐसी ही एक प्रथा 'इथियोपिया' की 'सुरमा जनजाति' के लोग निभाते हैं। दरअसल इस जनजाति में महिलाओं के शरीर पर ब्लेड या धारदार हथियार से कट मारने और निशान बनाने की प्रथा है, मान्यता है कि इस रस्म को निभाने के बाद महिला और खूबसूरत दिखाई देती है और साथ ही वो दर्द को सहकर ये भी प्रदर्शित कर देती है कि अब वो मां बनने के काबिल है और प्रसव दर्द झेल सकती है। 

हाल ही में एक 12 साल की लड़की को इस प्रथा से गुजरना पड़ा, इस रस्म की तस्वीरें फोटोग्राफर इरिक लाफार्ज़ को लेने का मौका मिला और उन्होने रस्म में क्रूरता से गुजरने वाली लड़की से बातचीत भी की। 

PAY-Scary-Scarifications (7)

इरिक लाफार्ज़ ने 12 साल की बच्ची से रस्म के बाद बातचीत की तो उसने बताया कि रस्म निभाते वक्त वो दर्द से तड़प रही थी लेकिन अपनी आपबीती को किसी को बयां नहीं कर सकती थी और न ही ये जता सकती थी कि उसे दर्द हो रहा है। खास बात ये है कि ये पूरी रस्म बच्ची की मां के सामने हो रही थी जिसे खुद इसका पालन करना पड़ा था वो जानती थी कि इसे निभाने में कितना दर्द होता है लेकिन वो चाहकर भी इस कुप्रथा से अपनी बच्ची को नहीं बचा पाई। 

PAY-Scary-Scarifications (8)

सुरमा जनजाति दवारा महिलाओं को मजबूर किया जाता है कि वो इस रस्म का पालन करें, प्रथा में बच्चो के शरीर के अलग- अलग हिस्से में ब्लेड से निशान बनाए जाते हैं। मान्यता हैं कि इस प्रक्रिया को करते समय 10 मिनट तक ब्लेड हुए दर्द को आपने चेहरे पर नहीं दिखाना होता है, फिर चाहे आपको कितना भी दर्द हो रहा हो।

 

PAY-Scary-Scarifications (5)

इन तस्वीरों में देखा जा सकता है कि किस तरह 'सुरमा जनजाति' की महिलाओं के शरीर पर अलग-अलग हिस्सों में ब्लेड से पैटर्न्स बनाए गए हैं।

PAY-Scary-Scarifications (6)

देखिए तस्वीरें

PAY-Scary-Scarifications (3)

सुरमा जनजाति के पुरुष भी इस रस्म को निभाते हैं क्योंकि ऐसी मान्यता है कि शरीर पर ये निशान शक्ति और खूबसूरती का प्रतीक भी हैं। 


PAY-Scary-Scarifications (2)


कमेंट करें