नेशनल

कासगंज हिंसा: हरकत में योगी सरकार, 16 IAS के हुए तबादले

आशुतोष कुमार राय, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
249
| जनवरी 31 , 2018 , 12:27 IST

उत्तर प्रदेश में कासगंज हिंसा के बाद योगी सरकार ने सख्त कदम उठाते हुए बड़े फेरबदल किए। सरकार ने नौ जिलों के जिलाधिकारियों तबादला कर दिया औऱ प्रदेश के 16 IAS अफसरों के तबादले किए गए।

देश में कुल 16 आईएएस अफसरों को तबादले करते हुए उन्हें नई तैनाती दी गई है।

जिन जिलों में डीएम बदले गए हैं वो मेरठ, मुजफ्फरनगर, महोबा, सुल्तानपुर, झांसी, बिजनौर, बांदा, रामपुर और बस्ती हैं।

अफसर- इन पदों पर थे- यहां हुई तैनाती
1- समीर वर्मा- जिलाधिकारी, मेरठ- सचिव, गृह विभाग।
2- गौरी शंकर प्रियदर्शी- जिलाधिकारी, मुजफ्फरनगर- सचिव, नगर विकास विभाग।
3- राम विशाल मिश्रा- जिलाधिकारी, महोबा- आयुक्त, चित्रकूट धाम मण्डल।
4- हरेंद्र वीर सिंह- जिलाधिकारी, सुल्तानपुर- आयुक्त, चकबन्दी।

5- कर्ण सिंह चौहान- जिलाधिकारी, झांसी- सचिव, मानवाधिकार आयोग।
6- जगत राज- जिलाधिकारी, बिजनौर- सचिव, संस्कृति विभाग एवं निदेशक, संस्कृति निदेशालय।
7- अनिल ढींगरा- उपाध्यक्ष, आगरा विकास प्राधिकरण- जिलाधिकारी, मेरठ।
8- दिव्य प्रकाश गिरी- अपर आबकारी आयुक्त, इलाहाबाद- जिलाधिकारी, बांदा।

9- मधेन्‍द्र बहादुर सिंह- जिलाधिकारी, बांदा- जिलाधिकारी, रामपुर।
10- शिव सहाय अवस्‍थी- जिलाधिकारी, रामपुर- जिलाधिकारी, झांसी।
11- सहदेव- विशेष सचिव, कृषि उत्पादन आयुक्त शाखा- जिलाधिकारी महोबा।

12- संगीता ‌‌सिंह- विशेष सचिव, गैर परम्परागत ऊर्जा स्रोत विभाग एवं निदेशक- जिलाधिकारी, सुल्तानपुर।
13- राजीव शर्मा- विशेष सचिव, लोक निर्माण विभाग- जिलाधिकारी, मुजफ्फरनगर।
14- अटल कुमार राय- अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी, नोएडा- ‌जिलाधिकारी, बिजनौर।
15- अरविंद कुमार सिंह- जिलाधिकारी, बस्ती- निदेशक, नेडा एवं विशेष सचिव, गैर परम्परागत ऊर्जा स्रोत।

UP #IAS Transfer list in few hour . 9 DM will change

— Anil Rai (@anilrai123) January 30, 2018

गौरतलब है कि यूपी के छोटे जिले कासगंज में गणतंत्र दिवस के मौके पर उस वक्त हिंसा भडक गई थी, जब कुछ लोग तिरंगा यात्रा निकाल रहे थे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रास्ता मांगे जाने को लेकर हुई कहासुनी बड़े फसाद में बदल गई। दौरान चली गोली में चंदन गुप्ता नामक युवक की मौत हो गई, वहीं एक अन्य युवक राहुल उपाध्याय घायल हो गया।

चंदन के अंतिम संस्कार के बाद भी कस्बे में हिंसा भड़क उठी और दुकानें आदि जलाने की घटना हुई। चार दिन से लगातार कासगंज में तनावपूर्ण शांति बनी हुई है।

कानून-व्यवस्था की बहाली के लिए पुलिस ने अब तक दोनों पक्षों से 112 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस घटना में सात लोगों के खिलाफ नामजद केस दर्ज है। पुलिस अफसरों के मुताबिक वीडियो फुटेज के आधार पर हिंसा में शामिल लोगों को चिह्नित कर गिरफ्तार किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें-: गौर से देख लीजिए...ये हैं कासगंज के चंदन गुप्ता के फरार हत्यारे

मुख्य आरोपी शकील फरार बताया जाता है। उसके घर से देसी बम और पिस्टल बरामद होने की बात कही जा रही। कस्बे में तनावपूर्ण शांति है।

हिंसा में शामिल लोगों को चिह्नित कर गिरफ्तार किया जा रहा। कासगंज में नेताओं के जाने पर भी रोक लगा दी गई है। ताकि कोई आम जनता की भावनाएं भड़काने का काम न करे।

बता दें कि उत्तरप्रदेश के कासगंज में तनाव अब भी बरकरार है। यहां हुई हिंसा में 6 अलग-अलग एफआईआर दर्ज कराई गई हैं। कुल 123 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

पुलिस ने चंदन गुप्ता की हत्या के मामले में नामजद 20 में से 11 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

हत्याकांड में मुख्य आरोपी तीन सगे भाई नसीम, वसीम और सलीम वर्की अभी भी फरार हैं। पुलिस ने तीनों का फोटो जारी किया है।


कमेंट करें