नेशनल

देश में McDonalds के 169 आउटलेट्स पर हमेशा के लिए लटकेंगे ताले

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
69
| सितंबर 6 , 2017 , 11:13 IST | नई दिल्ली

उत्तर भारत में आज से लोगों को मैकडोनाल्ड का बर्गर खाने को नहीं मिलेगा। आज से नॉर्थ और ईस्टर्न इंडिया में इसके 169 आउटलेट्स बंद होने जा रहे हैं जिसके चलते एक तरफ लोगों को बर्गर के स्वाद से महरूम होना पड़ेगा वहीं 7000 नौकरियों पर भी गाज गिरेगी। इसका कारण यह है कि मैकडोनाल्ड ने इन आउटलेट्स को संचालित करने वाली विक्रम बख्शी की कंपनी कनॉट प्लाजा रेस्टोरेंट प्राइवेट लिमिटेड (सी.आर.पी.एल.) के साथ फ्रेंचाइजी करार को खत्म कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक कंपनी ने ई-मेल भेजकर कहा है कि 21 अगस्त को कंपनी की तरफ से सी.पी.आर.एल. को जारी किया गया टर्मिनेशन नोटिस 5 तारीख को खत्म हो गया है। इस हिसाब से सी.पी.आर.एल. अब मैकडोनाल्ड का लोगो, ट्रेडमार्क, डिजाइन, ब्रांडिंग और ऑपरेशन नहीं कर सकता है। इससे पहले कंपनी ने दिल्ली में अपने 43 आउटलेट्स बंद किए थे। दिल्ली में मैकडोनाल्ड ने अपनी 80 फीसदी रेस्त्रां जून में बंद कर दिए थे। सी.आर.पी.एल. के पास 21 साल का लाइसेंस था, जिसको उसने मैकडोनाल्ड से रिन्यु नहीं किया था। सी.आर.पी.एल. में विक्रम बख्शी और मैकडोनाल्ड के बीच 50-50 फीसदी की पार्टनरशिप थी।

क्या है मामला?

सीपीआरएल मैकडॉनल्ड्स और बख्शी की 50-50 पर्सेंट हिस्सेदारी वाला जॉइंट वेंचर है। यह उत्तर और पूर्वी भारत में स्टोर्स ऑपरेट करता है। 21 अगस्त को अमेरिकी बर्गर एंड फ्राइज चेन मैकडॉनल्ड्स ने सीपीआरएल के साथ अपना अग्रीमेंट रद्द कर दिया था। मैकडॉनल्ड्स ने कहा था कि वह 15 दिनों के अंदर मैकडॉनल्ड्स के सभी ब्रैंडिंग और इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी का इस्तेमाल बंद कर दे।


कमेंट करें

अभी अभी