नेशनल

जब फेंका जाल तो मछली की जगह निकली शराब की 1,771 बोतलें

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
97
| नवंबर 6 , 2017 , 15:50 IST | मुजफ्फरपुर

बिहार में शराबबंदी लागू हुए लगभग दो साल होने जा रहे हैं लेकिन इसके बावजूद भी शराब की सप्लाई जारी है।मामला मुजफ्फरपुर का है जहां तस्करों ने शराब छिपाने के लिये तालाब का सहारा ले रखा था।

यहां तस्करों ने एक तालाब के पानी में बड़ी मात्रा में शराब छिपा कर रखी हुई थी। दरअसल मुजफ्फरपुर पुलिस के वरीय अधिकारियों को कटरा थाना के धनौर गांव में अवैध शराब की बड़ी खेप पहुंचने की सूचना मिली। सीनियर अधिकारियों के निर्देश पर कटरा पुलिस ने शराब की तलाश शुरू कर दी। इसी बीच कारोबारी ने शराब गांव के एक तालाब में फेंक दिया लेकिन बात खुल गयी। जब यहां खोजबीन की गई तो तालाब से 1,771 शराब की बोतलें बरामद की गईं। इस मामले में किसी की गिरफ्तारी की सूचना नहीं है।

कटरा के थाना प्रभारी रतन कुमार यादव ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि धनौर गांव में एक तालाब के अंदर छिपाकर बड़ी संख्या में शराब की बोतलें रखी गई हैं। पुलिस ने रविवार की देर शाम तालाब में ग्रामीणों और मछली पकड़ने वाले जाल की मदद से पांच फुट पानी के अंदर से 1,771 शराब की बोतलें जब्त कीं। उन्होंने बताया कि इन बोतलों में करीब 560 लीटर शराब मिली है। जिसकी कीमत बाजार में करीब 15 लाख रुपये बताई जा रही है।

उन्होंने बताया कि इस मामले में कटरा थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है, जिसमें आठ लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है। यादव ने बताया कि इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।


कमेंट करें