ख़ास रिपोर्ट

5 साल से 1 चिम्पांजी के कब्ज़े में है इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन, नासा ने मारने के लिए भेजे 6 जानवर

icon कुलदीप सिंह | 0
496
| अप्रैल 5 , 2017 , 01:17 IST | कैलिफोर्निया

पिछले पांच साल से नासा के सांइटिस्टों और एस्ट्रोनॉट्स को एक चिम्पांजी ने परेशान कर रखा है। दरअसल, इस चिम्पांजी ने नासा के इंटरनेशनल स्पेस सेंटर पर कब्जा जमा लिया है और 100 बिलियन डॉलर के स्पेसक्राफ्ट में चहलकदमी कर रहा है। हैरानी की बात ये है कि नासा ने इस चिम्पांजी को मारने के लिए अभी तक अंतरिक्ष में 6 जानवरों को भेजा है।

Chimp

बता दें कि 3 सितंबर 2012 को नासा के एक रिसर्च सेंटर से चिम्पांजी भाग कर इंटरनेशनल स्पेस सेंटर के स्पेसक्राफ्ट में घुस गया था जो आज तक वहां जिंदा है और वो वहां से निकाला नहीं जा सका है। चिम्पांजी को मारने के इस पूरे ऑपरेशन में अभी तक 43.8 बिलियन डॉलर खर्च हो चुके हैं।

आइए जानते हैं नासा ने चिम्पांजी को मारने के लिए अंतरिक्ष में भेजे कौन-कौन से 6 जानवर

Leopard

1. चीता

जैसे ही चिम्पांजी एक हॉकी स्टिक की मदद से नासा के इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के कंट्रोल रुम के बैरीकेड को तोड़ कर स्पेसक्राफ्ट में घुसा, वैसे ही स्पेसक्राफ्ट में मौजूद एस्ट्रोनॉट्स घबरा गए। उन्होंने ग्राउंड कंट्रोल को इमरजेंसी सिग्नल भेजा। ग्रांउड कंट्रोल ने तत्काल चिम्पांजी को मारने के लिए एक भूखे चीते को स्पेस में लांच किया, लेकिन चिम्पांजी काफी समझदार है वो समझ गया कि उसे मारने के लिए कोई जानवर आया है। चिम्पांजी ने स्पेस स्टेशन के एयरलॉक से एक पियानो को उठाकर चीते को मार गिराया।

Chimp 2

2. दूसरा चिंपांजी

नासा ने दोबारा प्रयास किया। इस बार नासा ने एक दूसरे चिम्पांजी को एक लोडेड गन के साथ स्पेस में लांच किया। लेकिन दुर्भाग्य! दूसरे चिम्पांजी ने पहले चिम्पांजी के साथ दोस्ती कर ली। 

Dog

3. एक बीमार कुत्ता

2014 आते-आते चिम्पांजी ने स्पेस स्टेशन के सांइटिस्टों को बंधक बना लिया। नासा के सांइटिस्टों के लिए अब यह एक गंभीर चुनौती बनता जा रहा था। नासा के साइंटिस्टों ने काफी मगजमारी की आखिर कैसे इस चिंपाजी को मारा जाए।

अंतत: सोचा गया कि एक बीमार कुत्ते को इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन भेजा जाए ताकि उसे खाकर चिम्पांजी भी बीमार हो जाए और वो भी मर जाए। कई महीनों की खोज के बाद एक बीमार कुत्ता मिला लेकिन उस कुत्ते को जब स्पेस में लॉन्च करने की बारी आई तो वो टेक ऑफ के समय ही मर गया।

Fish

4. एक विशाल मछली

नासा ने फिर चिम्पांजी को मारने के लिए रूस के स्पेस एजेंसी Roscosmos से संपर्क साधा। रूस के स्पेस एजेंसी ने सुझाव दिया कि मछली की एक विशाल प्रजाति होती है- stingray। वो अंतरिक्ष की कक्षा में आसानी से घूम सकती है और वो चिम्पांजी को मार भी सकती है। लेकिन चिम्पांजी और stingray के बीच कई दिनों तक स्पेस स्टेशन में लंबी लड़ाई चली और आखिरकारचिम्पांजी ही इस युद्ध में विजयी रहा।

Bee

5. एक मधुमक्खी

चिम्पांजी को मारने के लिए नासा के सभी प्रयास विफल हो रहा थे। अब नासा किसी छोटे जानवर के बारे में सोचने लगी जो चिम्पांजी को नजर नहीं आए वो आसानी से चिम्पांजी का काम तमाम कर सके। फिर एक मधुमक्खी को एक सलाई के डिब्बे के साईज वाले रॉकेट में स्पेस में लांच किया गया।

नासा खुश थी कि मधुमक्खी चिम्पांजी को डंक मार कर खत्म कर मौत की नींद सुला देगी, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। चिम्पांजी ने उस छोटे सी मधुमक्खी को मसल कर रख दिया।

Scorpion

6. दुनिया का सबसे जहरीला बिच्छू

नासा के लिए चिम्पांजी अब एक गंभीर चुनौती बन गई थी, क्योंकि इस चिम्पांजी ने पूरे स्पेस स्टेशन पर कब्जा जमा कर रखा है। नासा और स्पेसएक्स ने कुछ ऐसा करने का सोचा जिससे चिम्पांजी को धोखा हो जाए। नासा ने इस बार एक लकड़ी के बॉक्स में जिसमें केला के डिजाईन बने हुए थे, उसमें दुनिया का सबसे जहरीला बिच्छू स्पेस में लांच किया। ग्राउंड कंट्रोल वाले नीचे से सारा माजरा देख रहे थे।

लेकिन चिम्पांजी की चालाकी देखिए उसे समझ में आ गया था कि इस लकड़ी के डिब्बे में ऐसा कुछ है जो उसकी जान ले सकता है। उसने उसे नहीं खोला। इतना ही नहीं चिम्पांजी ने स्पेस स्टेशन में मौजूद एक एस्ट्रोनॉट को इतना भयभीत किया उसे डर के मारे बिच्छू वाला डिब्बा खोलना पड़ा। डिब्बा खोलते ही बिच्छू ने डंक मार कर उस एस्ट्रोनॉट को डस लिया।

Wolf

अब नासा चिम्पांजी को मारने के लिए अप्रैल के अंत में भूखे भेड़ियों की एक टीम को स्पेस में लांच करने जा रही है। पता नहीं नासा अपने इस प्रयास में सफल होती है कि नहीं। फिलहाल चिम्पांजी ही स्पेस स्टेशन का राजा बना हुआ है।

वेबसाइट CLICKHOLE के मुताबिक नासा ने इंटरनेशनल स्पेस सेंटर पर चिम्पांजी के कब्जे की जानकारी को अभी सार्वजनिक नहीं किया है। नासा का प्लान है कि पहले इस चिम्पांजी को वहां से भगाया जाए फिर इस घटना को सार्वजनिक किया जाए।

Nasa


author
कुलदीप सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में कार्यकारी संपादक हैं

कमेंट करें