नेशनल

भारी बारिश के चलते उत्तराखंड में बाढ़ जैसे हालात, बरम में फटा बादल

अनुराग गुप्ता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
162
| अगस्त 10 , 2017 , 08:39 IST | पिथौरागढ़

उत्तराखंड, आखिर उत्तराखंड में रहने वालों के लिए बरसात कैसी होती है यह तो वो अच्छी तरह से समझते ही है। दरअसल, हर साल बरसात का मौसम आते ही यहां के लोग सहम जाते है। याद हो आपको जून, 2013 का वो मंजर जिसे केदारनाथ त्रासदी का नाम दिया गया था। ऐसे मौसम में इस इलाके में बादल फटना, बाढ़ आना मानों आम हो।

बता दें कि इस साल पिथौरागढ़, धारचूला, अल्मोड़ा समेत घाटी से सटे कई इलाके बुरी तरह बाढ़ की चपेट में घिरे हुए है। इस इलाकों में बाढ़ और भूस्खलन की स्थिति पैदा हो गई। वहीं मंगलवार को अल्मोड़ा जनपद के तहसील बंगापानी के बरम क्षेत्र में बीती रात बादल फटने से इलाके में अफरा तफरी मच गई है।

बादल फटने की वजह से एक मोटर पुल टूट गया। हालांकि एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमें घटनास्थल पर पहुंच गई है। वहीं भारी बारिश के चलते कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए। बरम में पैदा हुए ऐसे हालातों की वजह से लोग दहशत में आ गए है। यहां का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।

Utttay

इतना ही नहीं बल्कि कई मकानों में पानी भर गया है और मवेशी बह गए है। खबर के मुताबिक गांव के लगभग 30 परिवारों को सुरक्षित जीआईसी बरम पहुंचा दिया गया है। फिलहाल अभी रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। जिलाधिकारी प्रभारी ने गोरी नदी में पानी का स्तर बढ़ने की वजह से नदी के किनारे रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थान पहुंचाने का निर्देश दिया है।


कमेंट करें