नेशनल

अफजल को कश्मीर की जेल में लाने की तैयारी में थे गिलानी, अफजल ने कहा था- शुक्रिया

मनीष शुक्ला, संवाददाता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
279
| अगस्त 3 , 2017 , 18:38 IST | नयी दिल्ली

कश्मीर घाटी में आतंक की समस्या नई नहीं है और यह समस्या लगातार केंद्र और राज्य सरकार की मुश्किलें बढ़ाती रही है लेकिन नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार ने जहाँ एक ओर कश्मीर घाटी से आतंकवाद को खत्म करने के लिए सेना को आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई और बड़े ऑपरेशन करने की छूट दे रखी है वहीं दूसरी तरफ जांच एजेंसियों को भी कश्मीर घाटी में आतंकियों और उनके मददगारों पर लगाम लगाने का आदेश दिया है।

यही वजह है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानि एनआईए कश्मीर घाटी में सीमापार से हो रही आतंकी फंडिंग पर आतंकियों और अलगाववादी हुर्रियत नेताओं के कनेक्शन को खंगाल रही है। जिसमें जांच एजेंसी को काफी हद तक कई सुराग और कामयाबी मिली है । इसी कड़ी में राष्ट्रीय जांच एजेंसी को एक और बड़ी कामयाबी मिली है। कश्मीर घाटी में आतंक का मसीहा माने जाने वाले अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी पर जांच एजेंसियों के जरिए बड़ा खुलासा हुआ है।

496447-syed-ali-shah-geelani

दरअसल यह खुलासा तब हुआ हुआ जब सीमापार से हो रही आतंकी फंडिंग के मामले में एनआईए की ओर से की जा रही छापेमारी में अलगाववादी नेता अल्ताफ अहमद शाह फंटूश के घर से संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु की तरफ से सैयद अली शाह गिलानी को लिखी चिट्ठी बरामद हुई। इस चिट्ठी के बरामद होते ही जांच एजेंसियों ने अपनी जांच का दायरा और बढ़ा दिया है।

दरअसल एनआईए को इस छापेमारी में जो चिट्ठी मिली है उसमें संसद पर हमले के दोषी और मास्टरमाइंड अफजल गुरु की तरफ से सैयद अली शाह गिलानी को उसके केस में मदद देने के लिए शुक्रिया कहा गया है। सैयद अली शाह गिलानी आतंकी अफजल गुरु को दिल्ली की तिहाड़ जेल से जम्मू-कश्मीर की जेल में शिफ्ट कराने की कोशिश में लगे हुए थे और यही वजह थी कि अफजल गुरु ने आतंकियों के मददगार सैयद अली शाह को शुक्रिया अदा करते हुए पत्र लिखा था। संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु की मदद करने के लिए सैयद अली शाह गिलानी ने उस दौरान जम्मू कश्मीर में प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर अफजल गुरु को कश्मीर की जेल में शिफ्ट करने के लिए पैरवी की थी ।

AFZAL-GURU

सूत्रों के मुताबिक एनआईए की इस छापेमारी में कई अहम सबूत मिले हैं जिसमें पाक से हो रही टेरर फंडिंग और आतंकियों और पत्थरबाजों को मदद देने से जुड़े कई सबूत जांच एजेंसियों के लिहाज और राष्ट्रीय सुरक्षा के मामले में बेहद कारगर हैं।

Ali-Shah-Geelani

अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी और उसके परिवार के कई सदस्य भी जांच एजेंसियों के रडार पर हैं लेकिन इस बार जांच एजेंसी को गिलानी के खिलाफ अहम सुराग मिले हैं। सूत्रों की मानें तो राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए के पास अलगाववादी हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी के खिलाफ कई अहम सबूत मौजूद हैं जो सैयद अली शाह गिलानी की गिरफ्तारी के लिए काफी है। जांच एजेंसियों के सूत्रों की मानें तो सैयद अली शाह गिलानी की आने वाले समय में गिरफ्तारी भी संभव है। अगर ऐसा हुआ तो जांच एजेंसियों की यह बड़ी कामयाबी मानी जाएगी ।


कमेंट करें

अभी अभी