राजनीति

गुजरात में कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, पूर्व सीएम शंकर सिंह वाघेला ने छोड़ी पार्टी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
209
| जुलाई 21 , 2017 , 17:46 IST | अहमदाबाद

गुजरात में चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के कद्दावर नेता शंकर सिंह वाघेला ने आखिरकार पार्टी से इस्तीफा दे ही दिया। बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग की बात सामने आने के 24 घंटे के अंदर शंकर सिंह बघेला बगावत पर उतर आए थे और शुक्रवार को उन्होने जन्मदिन के बहाने अपने समर्थकों का जमावड़ा बुला कर रैली में इस्तीफे की घोषणा कर दी।

 वाघेला ने कांग्रेस पर बोला हमला- आत्मसम्मान से समझौता नहीं कर सकते

वाघेला ने कांग्रेस पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि वे आत्मसम्मान से समझौता नहीं कर सकते। वाघेला ने कहा कि उनका लंबा सियासी इतिहास रहा है. वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में भी रह चुके हैं। वाघेला के जन्मदिन के बहाने बुलाए इस कार्यक्रम में समर्थक नेता जुटे हैं। हालांकि, कांग्रेस ने अपने नेताओं से वाघेला के कार्यक्रम में जाने को मना किया है।

उधर कांग्रेस ने इस पूरे मसले पर स्पष्टीकरण देते कहा है कि शंकर सिंह वाधेला को पार्टी से निकाला नहीं गया है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि शंकर सिंह वाघेला का आऱोप सर्वथा निराधार है, उन्हें पार्टी से बाहर नहीं निकाला गया है। 

क्रॉस वोटिंग के लिए वाघेला गुट जिम्मेवार

राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग के लिए वाघेला गुट को जिम्मेदार माना जा रहा है। इसी साल होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में कांग्रेस को इससे बड़ा झटका लग सकता है। वाघेला ने साफ कहा कि क्रॉस वोटिंग में उनका कोई हाथ नहीं है बल्कि उन्होंने एनसीपी के नेताओं से भी मीरा कुमार के पक्ष में वोट कराया।
कांग्रेस छोड़ने की बात कही थी।

 

Shankar-sinh-vaghela

इस बीच, एक बड़ी खबर आ रही है कि कल शंकर सिंह वाघेला एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल से मिले थे। उन्होंने बातचीत में कांग्रेस छोड़ने की बात कही थी. प्रफुल्ल पटेल से अगली मुलाकात फिर जल्दी ही हो सकती है। कार्यक्रम से पहले वाघेला ने कहा- पार्टी को राइट है अपने वर्कर को रोकने का और वर्कर का राइट है आए या ना आए. ये एक्शन बहुत समय पहले लेना चाहिए था। हमने क्रॉस वोटिंग नहीं करवाई है।

 

 


कमेंट करें