राजनीति

बीजेपी का 'मिशन दक्षिण', NDA में शामिल हो सकती है AIADMK

अमर सिंह, संवाददाता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
270
| अगस्त 1 , 2017 , 14:03 IST | नयी दिल्ली

बिहार में सत्ता में भागीदारी के बाद बीजेपी अब दक्षिण भारत में कदम बढ़ा रही है। इसी के तहत खबर है कि तमिलनाडु में सत्तारुढ़ एआईएडीएमके एनडीए का हिस्सा बनने जा रही है। सूत्रों का कहना है कि इसी महीने होने वाले केन्द्रीय कैबिनेट विस्तार में एआईएडीएमके के सांसदों को मंत्रीपद मिल सकता है।

दरअसल, बीजेपी 2019 के लोक सभा चुनाव से पहले एआईएडीएमके को अपने साथ लाना चाहती है। संसद के दोनों सदनों को मिलाकर एआईएडीएमके के कुल 50 सांसद हैं। बीजेपी और कांग्रेस के बाद एआईएडीएमके संसद में तीसरी बड़ी पार्टी है। एआईएडीएमके को लेकर स्थिति साफ होने के बाद ही मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा। बीजेपी इसी  हफ्ते एआईएडीएमके को लेकर बड़ी घोषणा कर सकती है।

Dc-Cover-kdhark1qm4a7h1mcc5d9130164-20170524161133.Medi

कहा जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह दोनों चाहते हैं कि दक्षिण भारत की सबसे बड़ी पार्टी उनके साथ आए। एआईएडीएमके पहले भी 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी सरकार का हिस्सा रह चुकी है। एआईएडीएमके के इसलिए भी बीजेपी से हाथ मिलने की संभावना बढ़ गई है क्योंकि उसकी धुर प्रतिद्ंवदी डीएमके कांग्रेस के साथ है। राष्ट्रपति चुनाव में भी डीएमके ने कांग्रेस उम्मीदवार को समर्थन दिया था।

Narendra-minister-meets-edappadi-tamil-palaniswami-chief_9a08caaa-fc44-11e6-ab12-d7625b180dd1

एआईएडीएमके के पास लोकसभा में 37 सांसद हैं जबकि राज्यसभा में 13। अगर यह राजनीतिक मिलन होता है तो केंद्र सरकार को राज्यसभा में मजबूती मिल जाएगी।

Palaniswami759आपको बता दें कि तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री और एआईएडीएमके महासचिव जे. जयललिता की मौत के बाद से तमिलनाडु में सत्ता संघर्ष चल रहा है। पार्टी दो धड़ों में बंट चुकी है। शशिकला के जेल जाने के बाद पलानीसामी को सीएम बनाया गया है। जबकि पन्नीरसेल्वम पहले ही बगावत के सुर आम कर चुके हैं।


कमेंट करें