नेशनल

गोमांस बैन की मांग करने वाले अजमेर दरगाह के दीवान पर गिरी गाज, पद से हटाया गया

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
177
| अप्रैल 5 , 2017 , 12:50 IST | अजमेर

गोहत्या पर प्रतिबंध की मांग करने वाले अजमेर शरीफ दरगाह के दीवान जैनुल आबेदिन को दरगाह के दीवान पद से हटा दिया गया है। सूफी जैनुल के भाई अलाउद्दीन आलिमी ने उन्हें दरगाह के दीवान पद से हटाने का ऐलान किया है। अलाउद्दीन ने खुद को हजरत मोईनुद्दीन चिश्ती दरगाह का दीवान घोषित कर दिया। आपको बता दें कि जैनुल आबेदिन ने गोमांस ना खाने की घोषणा की थी।

 Jainul_1.jpg_1491362640_749x421

अजमेर में चल रहे सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के 805वें सालाना उर्स का समापन चार अप्रैल को कुल की रस्म के साथ हो गया। इस सभा को संबोधित करते हुए दीवान आबेदीन ने कहा था कि मैं और मेरा परिवार आज से ही गोवंश के मांस के सेवन को त्यागने की घोषणा करता है।

 

उन्होंने कहा था कि भारत में गंगा-जमुनी तहजीब है और हिन्दू और मुसलमान इसी तहजीब के साथ रहते हैं। ऐसे में मुसलमानों को किसी भी विवाद की जड़ को ही खत्म कर देना चाहिए।

 

दीवान आबेदीन ने सरकार से भी मांग की थी कि वह गोवंश के पशुओं के मांस की बिक्री पर तुरंत प्रभाव से रोक लगा दे। उन्होंने कहा कि हाल ही में गुजरात सरकार ने गोमांस को लेकर उम्रकैद का जो प्रावधान किया है, उसे पूरे देश में लागू किया जाना चाहिए।


कमेंट करें

अभी अभी