ख़ास रिपोर्ट

UN ने अलजजीरा चैनल बंद करने की मांग को किया नामंजूर (कतर संकट पार्ट-3)

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
194
| जुलाई 1 , 2017 , 16:11 IST | जेनेवा

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि कतर के समक्ष सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र और बहरीन द्वारा संबंधों को सामान्य करने के लिए टेलीविजन चैनल 'अल जजीरा' को बंद नहीं किया जा सकता है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार संस्था ने कहा है कि अलजजीरा चैनल को बंद करने का शर्त अभिव्यक्ति व विचार की आजादी पर एक अस्वीकार्य हमला है।

UN ने कहा- अलजजीरा को बंद अभिवयक्ति की आजादी पर हमला

समाचार एजेंसी 'एफे' के अनुसार, प्रवक्ता रूपर्ट कोलविले ने शुक्रवार को कहा कि,

चाहे आप इसे न देखें, न पसंद करें या इसके संपादकीय दृष्टिकोण से सहमत न हों। अल जजीरा के अरबी और अंग्रेजी चैनल वैध हैं और इसके कई करोड़ दर्शक हैं। इसे बंद करने की मांग हमारी समझ में अभिव्यक्ति और विचार की आजादी के अधिकार पर एक अस्वीकार्य हमला है

Alz

प्रवक्ता ने आगे कहा कि संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार आयुक्त जायद राद अल-हुसैन ने कतर के चैनल और संबंद्धित मीडिया को बंद करने पर चिंता जताई है।

कोलविले ने आगे कहा है कि अगर किसी देश का अन्य देशों के टेलीविजन चैनलों पर प्रसारित होने वाले विचारों या मतों के साथ विवाद है, तो वे सार्वजनिक रूप से बहस करने के लिए स्वतंत्र हैं। इस तरह के चैनलों को बंद करने का आग्रह असाधारण, अभूतपूर्व और स्पष्ट रूप से अनुचित है।

सऊदी अरब ने अल जजीरा को बंद करने की रखी थी शर्त

बता दें कि सऊदी अरब समेत छह गल्फ देशों ने कतर से संबंध बहाल करने के लिए 13 शर्तें रखी थी। उनमें एक प्रमुख शर्त अल जजीरा मीडिया नेटवर्क को बंद करने की भी थी। इसके पीछे गल्फ देशों का तर्क है कि यह चैनल आतंकी संगठन अलकायदा और मुस्लिम ब्रदरहुड का भोंपू है। सऊदी अरब, मिस्र, बहरीन और जॉर्डन ने अपने-अपने यहां अल-जजीरा के ब्यूरो बंद कर दिए हैं। चैनल के पत्रकारों को जेल भी भेजा जा चुका है।

Al z 2

40 देशों में चैनल की पहुंच, अरब देशों में सबसे लोकप्रिय

अलजजीरा ने खुद को शक्तिशाली पश्चिमी मीडिया के सामने खड़ा किया। 2003 में इराक युद्ध का विरोध इस चैनल ने पुरजोर तरीके से किया। इराक युद्ध के दौरान अमेरिकी सैन्य अधिकारियों के भाषण और बयान सुनाए। आज भारत समेत 40 देशों में अलजजीरा चैनल देखा जाता है और 2.5 करोड़ घरों तक इसकी पहुंच है। दुनिया भर में इसके 90 ब्यूरो हैं। चैनल अरबी और अंग्रेजी दोनों भाषा में प्रसारित किए जाते हैं। अलजजीरा में काम करने वाले अधिकतर लोग बीबीसी, ईएसपीएन, सीएनएन और सीएनबीसी में काम कर चुके हैं।


कमेंट करें