लाइफस्टाइल

बादाम-अखरोट-काजू खाने से बढ़ते हैं शुक्राणु, रिसर्च में हुआ खुलासा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1779
| जुलाई 14 , 2018 , 12:49 IST

शोधकर्ताओं का कहना है कि उनकी रिसर्च से स्पर्म की क्वॉलिटी बेहतर करने में अखरोट, बादाम और काजू जैसे दूसरे मेवों की अहम भूमिका साबित होती है. हालांकि इस अध्ययन में जिन लोगों ने हिस्सा लिया, वे सभी स्वस्थ थे और संभवतः उनकी प्रजनन क्षमता भी अच्छी थी. जो लोग प्रजनन से जुड़ी समस्याओं से जूझ रहे हैं, उनके मामले में मेवे कितने कारगर है, इस बारे में अभी अध्ययन होना बाकी है.

इस रिसर्च में 18 से 35 वर्ष की उम्र के 119 पुरुषों ने हिस्सा लिया. उन्हें दो समूहों में बांटा गया. इनमें से एक समूह के लोगों को रोजाना 60 ग्राम बादाम, हेजेल नट और अखरोट जैसे मेवे खाने को दिए जाते थे. दूसरे समूहों के लोगों को कोई मेवे नहीं दिए गए.

Badam-khane-ke-fayde

लगभग 14 हफ्तों बाद पाया गया कि जिस समूह को मेवे दिए गए, उनके स्पर्मों की संख्या में काफी इजाफा हुआ और उनकी गति और आकार भी बेहतर हुआ. ये सभी चीजें पुरुषों की प्रजनन क्षमता में बहुत अहम मानी जाती हैं. शोधकर्ताओं के बयान में कहा गया है, "मेवे खाने वाले लोगों में स्पर्म डीएनए फ्रैगमेंटेशन में भी काफी कमी देखने को मिली."

14-benefits-of-walnut-in-Hindi-1024x682

इस रिसर्च के नतीजे स्पर्म को बेहतर बनाने से जुड़े पिछले अध्ययनों के नतीजों से मेल खाते हैं. इन अध्ययनों में यह पता लगाने की कोशिश की गई थी कि ओमेगा-3, विटामिन सी और ई जैसे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर खाने का असर स्पर्म पर किस तरह होता है. मेवों में कई तरह के पोषक तत्व होते हैं.

 

Shutterstock_468170399

इस रिसर्च के नतीजों को बार्लिलोना में हुई यूरोपीय सोसाइटील ऑफ ह्यूमन रिप्रॉडक्शन एंड एंब्रीयोलॉजी की बैठक में पेश किया गया. तो क्या यह मान लिया जाए कि जो पुरुष अपने घर में बच्चा चाहते हैं, उन्हें अपने खाने में ज्यादा मेवे शामिल करने चाहिए? इस सवाल पर शोधकर्ताओं का कहना है,

"अभी तो हम यह नहीं कह सकते, लेकिन ऐसे बहुत से प्रमाण मौजूद हैं कि हेल्थी लाइफस्टाइल से गर्भधारण की संभावना बढ़ती है, और मेवे भूमध्यीय इलाके में हेल्थी डायट का खास हिस्सा हैं."


कमेंट करें