इंटरनेशनल

अफगानिस्तान : दुनिया के सबसे बड़े गैर परमाणु बम हमले में 36 आतंकियों की मौत

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
248
| अप्रैल 14 , 2017 , 12:05 IST 123

गुरुवार शाम को अफगानिस्‍तान में अमेरिका द्वारा गिराए अब तक का सबसे बड़ा गैर एटमी बम हमले में 36 आतंकी मारे गए हैं। अफगान अधिकारियों ने इस ख़बर की पुष्टि की है।

इस हमले में एक भारतीय नागरिक मुर्शीद के मारे जाने की भी खबर है। माना जा रहा है कि वह केरल का रहने वाला था। इस संबंध में गुरुवार को एक फोन उसके परिजनों के पास आया।  उल्‍लेखनीय है कि पिछले साल केरल से 22 लोग लापता हुए थे उनमें से चार महिलाएं भी थीं। सभी टेलीग्राम के जरिये अपने परिवारों के संपर्क में थे। माना जा रहा है कि उनमें से 17 भारतीय अफगानिस्‍तान के नंगरहार क्षेत्र में थे। इसी क्षेत्र में अमेरिका ने हमला बोलते हुए अब तक का सबसे बड़ा बम गिराया है। बम का नाम GBU-43B है जो 11 टन विस्फोटक जितनी उर्जा पैदा करता है और इसकी जद में आने वाली हर चीज़ तबाह हो जाती है। CNN के मुताबिक अफगानिस्तान में जिस जगह बम गिराया गया है वहां आईएसआईएस आतंकी एक सुरंग में छुपे हुए थे। इस हमले में बड़ी तादाद में आईएसआईएस आतंकियों के मारे जाने की आशंका है। अमेरिकी सेना के मुताबिक गिराए गए बम का वज़न 21,000 पाउंड था, इसे MOTHER OF ALL BOMBS भी कहा जाता है। 

 

 

C9T5UIJVYAEWjkE

अमेरिकी रक्षा मुख्यालय पेंटागन के मुताबिक बम गुरुवार शाम करीब 07.32 मिनट पर पूर्वी अफगानिस्तान के नांगरहर प्रांत के अच्छिन इलाके में गिराया गया। ये एक बिल्डिंग थी जिसके नीचे सुरंग में कई आईएसआईएस आतंकी छिपे हुए थे। हमले वाली जगह अफगानिस्तान -पाकिस्तान सीमा के नजदीक है। इस बम को अमेरिकी वायु सेना के MC-130 ट्रांसपोर्ट विमान से टारगेट पर गिराया गया। अफगानिस्तान में अमेरिकी सेनाओं के कमांडर जनरल डब्लू निकोल्सन के मुताबिक बम का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा आईएस लड़ाकों को मारने के लिए किया गया और इससे कई अमेरिकी सैनिकों को भी सीधी लड़ाई में नहीं कूदना पड़ा। 

हमले के बाद व्हाइट हाउस ने एक प्रेस ब्रीफिंग में अफगानिस्तान पर हमले की पुष्टि की और कहा कि आईएसआईएस के खिलाफ लड़ाई को लेकर अमेरिका बेहद गंभीर है। 


कमेंट करें