राजनीति

राहुल पर शाह-योगी-स्मृति का वार, पूछा- 70 सालों में अमेठी का क्यों नहीं हुआ विकास

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
109
| अक्टूबर 10 , 2017 , 14:08 IST | अमेठी

अमित शाह मंगलवार को एक दिन के दौरे पर अमेठी पहुंचे। यहां उन्होंने गांधी परिवार के साथ खासकर राहुल गांधी पर निशाना साधा। उन्होंने पूछा कि राहुल बताएं कि वे यहां क्यों नहीं आते? यहां विकास क्यों नहीं होता? यहां अभी तक कलेक्टर ऑफिस क्यों नहीं बना? यहां एफएम क्यों नहीं खुला?

उन्होंने कहा- "बताइए 2014 लोकसभा में चुनाव जीते राहुल गांधी अमेठी क्यों नहीं आते? जबकि चुनाव हार गई स्मृति ईरानी यहां आती रहती हैं और विकास की बात करती रहती हैं। बताया जा रहा है कि शाह लोकसभा चुनाव 2019 का आगाज अमेठी से ही करेंगे। इस शो में सीएम योगी आदित्यनाथ और स्मृति ईरानी भी शामिल हुए।

शाह ने और क्या कहा

अमित शाह ने कहा कि, राहुल गांधी हमसे 3 साल का हिसाब मांगते हैं। हम उनसे 70 साल का हिसाब मांगते हैं। राहुल गुजरात में हैं। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि अमेठी में कलेक्टर ऑफिस क्यों नहीं बना, टीबी हॉस्पिटल क्यों नहीं बना?"
इस देश में सरकार के 2 मॉडल हैं। एक गांधी-नेहरू मॉडल और एक मोदी मॉडल। मैं लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि योगी जब दोबारा वोट लेने आएंगे तब यूपी भी गुजरात जैसा विकसित हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि योगी और मोदीजी मिलकर यूपी को विकसित राज्य बनाएंगे। मोदीजी के नेतृत्व में हर घर में बिजली, गैस, शौचालय पहुंचाने का काम हो रहा है। 70 साल तक राहुल बाबा आपकी दादी और परनाना सत्ता में रहे लेकिन कुछ नहीं हुआ। मोदीजी के नेतृत्व में पूरी दुनिया में भारत का सम्मान बढ़ा है। मोदी जहां कहीं भी जाते हैं, वहां उनका स्वागत नहीं बल्कि सवा सौ करोड़ जनता का होता है।

मोदी सरकार ने पहले की सरकारों से यूपी को 4 लाख 77 हजार करोड़ ज्यादा दिए। मोदी ने यूपी के लिए 106 योजनाएं चलाईं। हमने देश को बोलने वाला प्रधानमंत्री दिया।

पहले अमेठी का विकास तो कर लें राहुल

स्मृति ईरानी ने कहा, "गुजरात जाकर राहुल गांधी विकास का मजाक उड़ाते है, अरे पहले अमेठी का विकास कर लीजिए। आज तक जिला कलेक्टर के लिए बैठने के लिए ऑफिस नहीं हैं। ये अनोखी अमेठी का विकास है।

जिस मैदान में ये रैली हो रही है, वो साइकिल की फैक्ट्री लगाने के लिए किसानों ने जमीन दी थी। फैक्ट्री बंद हो गई, तब राजीव गांधी फाउंडेशन ने इस जमीन को ले लिया। अब तक किसानों को वो जमीन नहीं लौटाई गई।

साढ़े तीन साल से अमेठी आ रही हूं। इस दौरान हम पिपरी गांव में गए। उन लोगों ने कहा, कि वो चुनाव का बहिष्कार कर रहे हैं। हमने पूछा क्यों। उन्होंने कहा कि हमारी कोई सुनता नहीं। कई बार सांसद से मिलने के लिए गए, लेकिन मिल नहीं पाए। आम लोग तो छोड़िए, उनकी पार्टी के नेता तक पार्टी आलाकमान से नहीं मिल पाते।

इससे पहले जनता को संबोध‍ित करते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि‍ पूरी दुनिया में पीएम नरेंद्र मोदी की वजह से भारत को प्रतिष्ठा प्राप्त हुई है। नोबेल भी उस अर्थशास्त्री को प्राप्त हुआ है, जिसने सबसे पहले पीएम मोदी की नोटबंदी योजना को समर्थन दिया था। सीएम योगी आदित्यनाथ ने क‍हा कि पहले किसान को उनकी फसल का सही दाम नहीं मिल पाता था, बीजेपी जब प्रदेश में सत्ता में आई तो 37 लाख मीट्र‍ि‍क टन सीधे गेंहू किसानों से खरीदा गया। धान क्रय की व्यवस्था की गई है।

योगी ने कहा कि हमने बिचौलियो को हटाया। योगी ने कहा कि बिचौलियो प्रथा का हटना मतलब कांग्रेस का बेरोजगार हो जाना है। आजादी के बाद कांग्रेस ने इस प्रथा की शुरुआत की।

योगी ने कहा कि अमेठी और रायबरेली को सबसे ज्यादा चोट पहुंची है। इन लोगों ने कभी भी इस क्षेत्र के विकास में योगदान नहीं दिया। वहीं संवेदनशील बीजेपी सरकार ने अमेठी लोकसभा सीट पर हार के बावजूद इस क्षेत्र में काम किया है।


कमेंट करें