राजनीति

'जन रक्षा यात्रा' में अमित शाह ने केरल की CPM सरकार को कहा 'आतंकी सरकार'

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
62
| अक्टूबर 8 , 2017 , 19:58 IST | नई दिल्ली

केरल में चल रही राजनीतिक हिंसा के खिलाफ बीजेपी की 'जनरक्षा यात्रा' में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने एक बार फिर केरल की सीपीआई (एम) सरकार पर हमला बोला। नई दिल्ली में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि केरल में बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्याएं हो रही हैं और विजयन सरकार खामोश है।

अमित शाह ने कहा, 'मैं सभी मानवाधिकार कार्यकर्ताओं से पूछना चाहता हूं कि तब वे कहां चले गए थे, जब बीजेपी के 12 कार्यकर्ताओं की जघन्य हत्या कर दी गई? यदि वे हिंसा के खिलाफ हैं तो फिर हमारे वर्कर्स के लिए कैंडल मार्च क्यों नहीं निकालते?'

रोजाना 12 हजार बीजेपी कार्यकर्ता पैदल चलेंगे

बीजेपी कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए उन्होंने कहा, 'मेरी खुद इस रक्षा यात्रा पर नजर है। रोजाना 10 हजार कार्यकर्ता पैदल चलेंगे। हमलोग सत्याग्रह करेंगे। हम हिंसा का जवाब हिंसा से नहीं देंगे। मैं सभी लोगों से आग्रह करता हूं कि वे लेफ्ट सरकार को जड़ से उखाड़ फेकें। अमित शाह ने केरल के मुख्यमंत्री पिनारई विजयन की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि ये हत्याएं उनके सीएम बनने के बाद हुई हैं। इसमें कई वारदात तो उनके गृह जिले में हुए। सियासी हिंसा के लिए उन्हें लज्जित होना चाहिए।

वाम दलों पर लगाया जिहादी आतंकवाद का आरोप

उल्लेखनीय है केरल में माकपा की अगुवाई वाली एलडीएफ शासनकाल में कथित जिहादी आतंकवाद के खिलाफ अमित शाह ने तीन अक्तूबर को 'जनरक्षा यात्रा' की शुरूआत की थी। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस यात्रा की अगुवाई की थी और वामदलों पर जिहादी आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था। कन्नूर में आदित्यनाथ ने कहा था, 'प्राचीन काल से केरल की धरती हिंदुओं के लिए पवित्र रही है। लेकिन पिछले कुछ समय से केरल को जिहादी आतंकवाद का अड्डा बनाया गया।'
वहीं सीपीआई (एम) नेता एम वी गोविंदन मास्टर ने कहा था कि वाम दलों के राज्य में आधार और ताकत पर भाजपा के इस मार्च का कोई प्रभाव नहीं हुआ है। लोकतंत्र में सभी राजनीतिक दल यात्रा निकाल सकते हैं और इस पर कोई प्रतिबंध नहीं है।


कमेंट करें