नेशनल

खुशखबरी: जेवर एयरपोर्ट को मिली हरी झंडी, अब ग्रेटर नोएडा से भर सकेंगे उड़ान

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
126
| जून 24 , 2017 , 21:07 IST | नोएडा

ग्रेटर नोएडा के जेवर में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनने का रास्ता साफ हो गया है। नागरिक उड्डयन मंत्री गजपति राजू ने जानकारी दी है कि जेवर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए 3 हजार हेक्टेयर भूमि की पहचान की गई है। पहले चरण में 1000 हेक्टेयर जमीन को विकसित किया जाएगा।

जेवर एयरपोर्ट पर होगा 20 हजार करोड़ का निवेश

वहीं केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि नोएडा एयरपोर्ट आने वाले समय में यात्रियों की बढ़ती जरूरतों को पूरा करेगा। इस एयरपोर्ट पर 15 से 20 हजार करोड़ का निवेश किया जाएगा। इससे इस क्षेत्र में आर्थिक गतिविधि को बढ़ावा मिलेगा। अगले 10-15 वर्षों में नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा प्रति वर्ष 30-50 लाख यात्रियों को मंजिल तक पहुंचाएगा।

एयरपोर्ट के लिए 3 हजार हेक्टेयर भूमि की पहचान

जेवर एयरपोर्ट को केंद्र सरकार ने शुक्रवार शाम को हरी झंडी दी। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि उन्हें कोई आपत्ति नहीं है। राज्य में बीजेपी की सरकार बनने के बाद इस एयरपोर्ट को हरी झंडी दी गई। एयरपोर्ट पीपीपी मॉडल के तहत तैयार किया जाएगा। इसके लिए 3 हजार हेक्टेयर भूमि की पहचान कर ली गई है। 

राज्य सरकार में मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने जेवर एयरपोर्ट को मंजूरी देने के लिए केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया। पिछले काफी लंबे समय से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक एयरपोर्ट की मांग रही है, मायावती सरकार ने जेवर में एयरपोर्ट को मंजूरी दी थी। लेकिन अखिलेश यादव की सरकार आगरा में एयरपोर्ट बनाना चाहती थी। अब योगी सरकार ने जेवर में एयरपोर्ट बनाने पर दोबारा विचार किया है।

एयरपोर्ट के पास ही बनेगा फार्मासिटिकल पार्क

सिद्धार्थनाथ सिंह ने आगे कहा कि 2003 से ही जेवर का एयरपोर्ट मामला चल रहा है, लेकिन पिछली सरकारों की उदासीनता के चलते ये मामला ठंडा रहा। केंद्र सरकार उसे जल्द से जल्द पूरा करवाना चाहती थी। 'इस इंटरनेशनल एयरपोर्ट में 15 से 20 हजार करोड़ का निवेश होगा। इस एयरपोर्ट के आने से टूरिज्म इंडस्ट्रीज को काफी फायदा होने वाला है। एयरपोर्ट के पास ही फार्मासिटिकल पार्क का भी निर्माण होगा।


कमेंट करें