नेशनल

डोकलाम पर चीन को घेरने के लिए रावत-डोभाल-गोखले का सीक्रेट भूटान दौरा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
394
| फरवरी 19 , 2018 , 13:27 IST

डोकलाम पठार में चीन की बढ़ती सैन्य मौजूदगी और अवसंरचना विकास पर ध्यान केंद्रित करते हुए सेना प्रमुख बिपिन रावत, विदेश सचिव विजय गोखले और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल इस महीने के असाधारण दौरे पर भूटान गए थे।

न्यूज एजेंसी पीटीआई से जुड़े सूत्रों का कहना है कि डोकलाम क्षेत्र में चीन की तरफ से बढ़ती हलचल के मद्देनजर भारत और भूटान के नेताओं के बीच बातचीत हुई। बताया जा रहा है कि यह मुलाकात 6-7 फरवरी को हुई, जो काफी सकारात्मक भी रही।

सरकारी सूत्रों ने बताया कि यह दौरा 6 और 7 फरवरी को हुआ और प्रमुख भारतीय अधिकारियों और भूटान सरकार के बीच बैठकों से ‘‘सकारात्मक’’ परिणाम सामने आए। इस बात पर भी विचार हुआ कि दोनों देशों के बीच रक्षा और सुरक्षा सहयोग को और अधिक मजबूत कैसे किया जाए।

बताया जा रहा है कि डोकलाम को लेकर भूटान पर चीन की तरफ से दबाव बनाया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि चीन की तरफ से भूटान के सामने एक प्रस्ताव रखा गया है। इस प्रस्ताव में भूटान से डोकलाम के भूभाग के बदले उत्तरी इलाके में बड़ा भूभाग देने की पेशकश की गई है।

चीन की तरफ से पेशकश को मानने का दबाव बनाया जा रहा है। ऐसे में भारत की तरफ से यह दौरा काफी महत्वपूर्ण हो जाता है।

बता दें कि चीन और भारत के बीच डोकलाम को लेकर एक-दूसरे के आमने-सामने आ गए थे। भारत के कई दिनों तक अपनी पॉजिशन पर डटे रहने के बाद चीन को इससे पीछे हटना पड़ा था।

इस मामले को सफलतापूर्वक निपटाने में भारत के विदेश सचिव विजय गोखले की अहम भूमिका थी। ऐसे में अगर भूटान चीन के दबाव में आकर उसकी पेशकश को स्वीकार कर लेता है तो भारत चीन को डोकलाम में निर्माण कार्य करने से नहीं रोक पाएगा। सूत्रों का कहना है कि भूटान और चीन के बीच सीमा के मुद्दे पर भूटाप ने भारत से चर्चा की थी।

इसे भी पढ़ें-: PM नरेंद्र मोदी की फ्लाइट्स पर पाक ने लगाया 2.86 लाख रुपए का नैविगेशन चार्ज

इस मामले में भारत के लिए सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि यदि भूटान और चीन के बीच समझौता हो जाता है तो डोकलाम में चीन का अधिकार हो जाएगा। इस परिस्थिति में चीन सिलीगुड़ी गलियारे को बाधित करने की स्थिति में आ जाएगा। बता दें कि यह गलियारा ही पूरे देश को उत्तर-पूर्वी राज्यों से जोड़ता है।


कमेंट करें