नेशनल

J&K सरकार के पोस्टर में सीएम महबूबा के साथ दिखी अलगाववादी नेता अंद्राबी, मचा हड़कंप

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
126
| अक्टूबर 12 , 2017 , 13:39 IST | श्रीनगर

जम्मू और कश्मीर में पीडीपी और भारतीय जनता पार्टी सरकार ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के एक पोस्टर में अलगाववादी आसिया अंद्राबी की तस्वीर लगा दी। आसिया, दुख्तरन-ए-मिल्लत की मुखिया हैं। वो इसी साल 2 बार गिरफ्तार हो चुकी हैं। आसिया पर यह लगातार आरोप है कि वो महिलाओं को सेना और स्थानीय पुलिस पर पत्थर फेंकने के लिए भड़काती हैं।

कश्मीर घाटी के कोकेरनाग जिले में 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इसी कार्यक्रम में लगे बैनर में आसिया अंद्राबी को जगह मिलने से विवाद हो रहा है।

इस बैनर में जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की भी तस्वीर है। बैनर में अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा, मशहूर गायिक लता मंगेशकर, पुडुचेरी राज्यपाल किरण बेदी और नोबेल पुरस्कार विजेता मदर टेरेसा जैसी शख्सियतों को जगह मिली है।

इसी पोस्टर में नीचे की पंक्ति में पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी, हब्बा खातून, किरन बेदी और लता मंगेश्कर की तस्वीरें भी हैं। पोस्टर में जिन महिलाओं की तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया है, उनके साथ उनके नाम व उनकी उपलब्धियां भी लिखी गई हैं।

आसिया अंद्राबी की तस्वीर के नीचे अंग्रेजी में लिखा है, फाउंडिंग लीडर ऑफ दुख्तरान-ए-मिल्लत।

कोकरनाग में आयोजित इस समारोह में बेशक महबूबा शामिल नहीं थीं, लेकिन उनके करीबी कही जाने वाले एमएलसी अंजुम फाजली के अलावा पीडीपी के स्थानीय विधायक अब्दुल रहीम राथर, वन राज्यमंत्री जहूर मीर, पुलवामा के विधायक मुहम्मद खलील बंड और पूर्व मंत्री अब्दुल गफ्फार सोफी भी मौजूद थे।

जिला विकास आयुक्त अनंतनाग, कोकरनाग पर्यटन विकास प्राधिकरण के सीइओ और पर्यटन निदेशक महमूद शाह भी मौजूद थे। दिनभर चले इस समारोह में किसी ने भी पोस्टर पर आसिया अंद्राबी की तस्वीर पर एतराज नहीं जताया।

मामले के तूल पकड़ने के बाद डीसी अनंतनाग ने मामले में दोषी अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है।

पीडीपी विधायक कोकेरनाग से पीडीपी विधायक और कार्यक्रम के आयोजक अब्दुल रहीम राठेर ने पूरे मामले पर स्पष्टीकरण दिया है. उन्होंने कहा कि बैनर में गलती से आसिया अंद्राबी की तस्वीर छाप दी गई थी।

वहीं, नौशेरा से बीजेपी विधायक रविंदर रैना ने पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। रविंदर रैना ने आरोप लगाते हुए कहा कि आसिया अंद्राबी कश्मीरी महिलाओं के लिए रोल मॉडल कैसे हो सकती है जो घाटी में पिछले दो दशकों में हुई महिलाओं और बच्चों की हत्याओं के लिए जिम्मेदार है। बीजेपी विधायक ने दोषी अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

पीडीपी विधायक कोकेरनाग से पीडीपी विधायक और कार्यक्रम के आयोजक अब्दुल रहीम राठेर ने पूरे मामले पर स्पष्टीकरण दिया है। उन्होंने कहा कि बैनर में गलती से आसिया अंद्राबी की तस्वीर छाप दी गई थी।

सोशल मीडिया पर बैनर की तस्वीरें वायरल होने के बाद अधिकारियों ने अनंतनाग जिले से आसिया अंद्राबी वाले पोस्टरों को हटा लिया है।

बता दें कि आसिया ने मार्च 2015 को कश्मीर में पाकिस्तान का झंडा फहराया और वहां का राष्ट्रगान भी गाया था। राज्य की राजधानी श्रीनगर में नेशनल डे पर पाकिस्तान का झंडा फहराने के लिए आसिया को गिरफ्तार किया गया था। आसिया ने 26/11 मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का भी समर्थन किया था वो अभी जेल में है।


कमेंट करें