नेशनल

ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच फेल हुई सेल्फी डिप्लोमेसी! 95000 भारतीयों की नौकरी पर ख़तरा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
123
| अप्रैल 18 , 2017 , 19:33 IST | मेलबर्न

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री कुछ दिन पहले भारत दौरे पर थे, अक्षरधाम मंदिर में बैठकर ऑस्ट्रेलियाई और भारतीय प्रधानमंत्री ने मिलकर सेल्फी क्लिक की और दोनों देशों के बेहतर संबंधों पर वार्ता की थी। इसके बावजूद भारत को झटका देते हुए ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मैलकॉम टर्नबुल ने विदेशी कर्मचारियों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे वीजा कार्यक्रम को समाप्त कर दिया।

दरअसल, ऑस्ट्रलिया ने बढ़ती बेरोजगारी से निपटने के लिए 95,000 से ज्यादा अस्थायी विदेशी कर्मचारियों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे वीजा कार्यक्रम को समाप्त कर दिया है। इनमें से ज्यादातर भारतीय हैं फिर ब्रिटेन और चीन के नागरिक हैं। इस कार्यक्रम को 457 वीजा के नाम से जाना जाता है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक वीजा 457 कार्यक्रम के तहत सितंबर 30, 2016 तक 95,757 कर्मचारी काम कर रहे थे। जिसे मंगलवार को समाप्त कर दिया गया है और इसकी जगह पर नया वीजा कार्यक्रम लाया जा सकता है।

22_1492498001

प्रधानमंत्री मैलकॉम टर्नबुल ने कहा कि हम प्रवासियों का देश हैं मगर ऑस्ट्रेलियाई कामगारों को ऑस्ट्रेलिया में रोजगार में प्राथमिकता मिलनी चाहिए। इसलिए अस्थाई तौर पर विदेशी कर्मचारियों को हमारे यहां आने की अनुमति देने वाले 457 वीजा को खारिज करते हैं। हम 457 वीजा को अब उन नौकरियों तक पहुंचने का जरिया बनने नहीं देंगे और ये रोजगार ऑस्ट्रेलिया के लोगों को मिलना चाहिए।

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने यह घोषणा भारत दौरे के बाद की है। यहां पर उन्होंने सिक्योरिटी, शिक्षा, आतंकवाद, ऊर्जा जैसे विषयों पर वार्ता की और इसके अलावा, छह समझौतों पर हस्ताक्षर भी किए। भारतीय प्रधानमंत्री ने ऑस्ट्रलियाई प्रधानमंत्री की काफी तारीफ भी की थी और उनके साथ की कई तस्वीरें सोशल मीडिया में साझा की थी।

टैग्स: Narendra modi

कमेंट करें