नेशनल

नया खुलासा: मुन्ना बजरंगी की हत्या के लिए दी गई थी 10 करोड़ की सुपारी!

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1345
| जुलाई 13 , 2018 , 16:19 IST

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या के मामले में एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है। कहा ये जा रहा है कि मुन्ना बजरंगी की हत्या के पीछे पूर्वांचल के एक सफेदपोश का भी हाथ है। बताया ये जा रहा था कि बजरंगी अपना वर्चस्व बढ़ाने के लिए आगामी 2019 लोकसभा चुनाव लड़कर बनना चाहता था। 

चुनाव लड़ना चाहता था मुन्ना बजरंगी

चर्चा है कि 10 करोड़ रुपये की सुपारी लेकर बजरंगी को मौत के घाट उतारा गया है। 2019 में जौनपुर लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा मुन्ना बजरंगी एक नेता के आड़े आ रहा था, जो कत्ल की मुख्य वजह बनी। बजरंगी के लोकसभा चुनाव लड़ने की चाह और एक बाहुबली से उसकी वर्चस्व की जंग भी जांच के दायरे में है। बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह बाहुबली पर हत्या कराने का आरोप भी लगा चुकी है। चर्चा यह भी है कुख्यात सुनील राठी पूर्वांचल में अपनी पैठ बनाना चाह रहा था इसलिए उसे भी साजिश में शामिल किया गया।''

ये भी पढ़ें: मुन्ना बजरंगी मर्डर: हत्या के लिए रॉबिन ने जेल में भिजवाई थी 2 पिस्टल

702973-munna-bajrangi-pti

मुन्ना को मारने के लिए 10 करोड़ की सुपारी 

सूत्रों के मुताबिक यही वजह रही कि मुन्ना को मारने के लिए 10 करोड़ की सुपारी दी गई। पुलिस सूत्रों की मानें तो जौनपुर के एक बैंक से 7 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए थे। वहीं वारदात के कुछ दिन पहले 3 करोड़ रुपये खाते से निकाले गए थे। करोड़ों के ट्रांजेक्शन का मामला सामने आने के बाद पुलिस जांच में जुट गई ुहै।

जेल में हुई थी मुन्ना बजरंगी की हत्या

गौरतलब है कि माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या 9 जुलाई की सुबह बागपत की जेल में कर दी गई थी। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मुन्ना बजरंगी की हत्या के मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। योगी ने कहा, 'जेल में हुई हत्या बहुत गंभीर मामला है। मामले की गहराई से जांच होगी। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा.'इससे पहले बीते 29 जून को मुन्ना की पत्नी सीमा सिंह ने लखनऊ प्रेस क्लब में कॉन्फ्रेंस करके एनकाउंटर का भी अंदेशा जताते हुए सीएम से गुहार लगाई थी। यानी डाॅन की पत्नी का अंदेशा सच साबित हुआ।

कहा ये भी जा रहा है कि मुन्ना बजरंगी की हत्या सुनील राठी ने की थी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हत्या करने के बाद सुनील राठी इतना खुश था कि उसने मुन्ना की मौत के बाद भी कई गोलियां चलाई थीं। और डांस किया था। पुलिस तफ्तीश में भी इस फायरिंग की बात सामने आ रही है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मुन्ना बजरंगी के शरीर से 7 गोलियां निकली हैं, जबकि मौका ए वारदात से पुलिस ने गोलियों के 10 खोखे बरामद किए थे। एसटीएफ के मुताबिक, सुनील राठी जब इस बात को लेकर पक्का हो गया कि मुन्ना बजरंगी की सांसें उखड़ चुकी हैं तो उसने खुशी में तीन फायर और किए।

मुन्ना बजरंगी की बड़ा बनने की चाहत थी

मुन्ना बजरंगी का असली नाम प्रेम प्रकाश सिंह है. उसका जन्म 1967 में उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के पूरेदयाल गांव में हुआ था। उसके पिता पारसनाथ सिंह उसे पढ़ा-लिखाकर बड़ा आदमी बनाने का सपना संजोए थे। मगर प्रेम प्रकाश उर्फ मुन्ना बजरंगी ने उनके अरमानों को कुचल दिया।


कमेंट करें