नेशनल

आधार से एंट्री वाला बेंगलुरु होगा देश का पहला एयरपोर्ट, नहीं होगी टिकट की ज़रूरत

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
145
| अक्टूबर 9 , 2017 , 15:16 IST | बेंगलुरु

एविएशन मिनिस्ट्री यात्रियों के एयरपोर्ट पर एंट्री के तरीके को और भी आसान करने की तैयारी कर रही है। यात्रियों को पेपर चेकिंग की जटिल प्रक्रिया से निजात दिलाने के लिए बायोमेट्रिक एंट्री का योजना बनाई जा रही है। अब टिकट बुकिंग के समय इस्तेमाल किए गए आधार कार्ड की मदद से बायोमेट्रिक एंट्री की जा सकेगी। इस योजना के तहत अगले साल मार्च में बेंगलुरु का केम्पेगोडा अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा (के.आई.ए.) देश का पहला आधार आधारित एंट्री और बायोमीट्रिक बोर्डिंग सिस्टम वाला एयरपोर्ट बनने जा रहा है।

इसकी शुरुआत दिसंबर 2018 से होगी। बीआईएएल ने कहा है कि आधार बेस्ड सिस्टम से यात्रियों की एंट्री से लेकर के बोर्डिंग गेट तक पहुंचने में केवल 10 मिनट का समय लगेगा। अभी इस प्रोसेस को पूरा करने में आधा घंटे से ऊपर का समय लगता है।
एविएशन मिनिस्ट्री यात्रियों के एयरपोर्ट पर एंट्री के तरीके को और भी आसान करने की तैयारी कर रही है। उड्डयन मंत्रालय यात्रियों को पेपर चेकिंग की जटिल प्रक्रिया से निजात दिलाने के लिए बायोमेट्रिक एंट्री का प्लान बनाया जा रहा है।

बता दें कि सरकार एयरपोर्ट पर पहले से ही एंट्री के लिए मोबाइल के इस्तेमाल पर जोर दे रही है, जिससे कागजी प्रक्रिया के बजाय मोबाइल से वो काम निपटाए जा सकें। अब नई प्रक्रिया के तहत टिकट बुकिंग के समय इस्तेमाल किए गए आधार कार्ड की मदद से बायोमेट्रिक एंट्री की जा सकेगी।

एविएशन सेक्रेटरी आरएन चौबे का कहना है कि ऐसा होने के बाद हर यात्री को चेकिंग पर सिर्फ बायोमेट्रिक प्रोसेस से गुजरना होगा, न कि अपने आइडेंटिफिकेशन प्रूफ दिखाने होंगे। इतना ही नहीं, उन्हें अपने टिकट को दिखाने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी।

दरअसल, फिलहाल यात्रियों को एंट्री की हर स्टेज पर स्टैंपिंग प्रोसेस का सामना करना पड़ता है। चौबे के मुताबिक एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया डिजिटल यात्रा प्लान पर काम कर रही है। बेंगलुरु के बाद देश के कई बड़े एयरपोर्ट्स भी इस प्रोसेस की शुरुआत करेंगे, जिसमें अगला नंबर हैदराबाद एयरपोर्ट का होगा।


कमेंट करें