नेशनल

दलित महिला IAS अफसर शशि कर्णावत बर्खास्त, प्रिंटिंग घोटाले का आरोप

ललिता सेन, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
301
| सितंबर 12 , 2017 , 10:09 IST | भोपाल

प्रिंटिंग घोटाले की दोषी एमपी कैडर 1999 बैच की आईएएस अफसर शशि कर्णावत को बर्खास्त कर दिया गया है। कर्णावत के खिलाफ साल 1999-2000 में मंडला जिला पंचायत सीईओ रहते हुए 33 लाख के प्रिंटिंग घोटाले के आरोप में ईआेडब्ल्यू ने केस दर्ज किया था

स्पेशल कोर्ट ने सितंबर, 2013 में कर्णावत को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 की धारा 13(1) घ और धारा 13(2) के अंतर्गत 5 साल जेल और 50 लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई थी। इसके अगले महीने ही उन्हें सस्पेंड भी कर दिया गया था। तब से कर्णावत के खिलाफ निलंबन आदेश बढ़ाया जा रहा था। बता दें कि, इससे पहले एमपी कैडर के आईएएस अधिकारी दंपती अरविंद जोशी और टीनू जोशी को भी भ्रष्टाचार के चलते बर्खास्त किया जा चुका है।

वहीं, कर्णावत का कहना है कि मुझे बर्खास्तगी के बारे में कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा की बीजेपी की अब उलटी गिनती शुरू हो गई है। यह दलित विरोधी सरकार है और इनके पाप का घड़ा अब भर चुका है। जल्द ही इस सरकार को इसके कर्मों का फल मिलना शुरू होगा।

Suspend

गौरतलब है कि, भ्रष्टाचार की दोषी पाए जाने के बाद अक्टूबर 2014 में कर्णावत को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। जिसमें पूछा गया था कि उन्हें क्यों ना सेवा से हटा दिया जाए। कर्णावत ने इसका जवाब नहीं दिया। इसके बाद राज्य सरकार ने कर्णावत को बर्खास्त करने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा था।

बर्खास्तगी के प्रस्ताव पर संघ लोक सेवा आयोग की सहमति के बाद कर्णावत से दाेबारा जवाब मांगा गया लेकिन वह सरकार के सवालों के पूर्ण उत्तर और तर्क प्रस्तुत नहीं कर पाईं। सिर्फ अंतरिम उत्तर ही पेश किए।


कमेंट करें