राजनीति

बढ़ सकती है लालू के बेटे तेज प्रताप यादव की मुश्किलें, मिट्टी घोटाले की होगी जांच

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
202
| अप्रैल 6 , 2017 , 20:58 IST | पटना

बिहार में हुए कथित मिट्टी घोटाले के मामले में आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताज यादव की मुश्किलें बढ़ सकती है। बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने गुरुवार को तेज प्रताप यादव पर लगे मिट्टी घोटाले के आरोपों की जांच करने के आदेश दे दिए हैं। मुख्य सचिव ने वन विभाग के अधिकारियों से पूरी टेंडर प्रक्रिया और इसके आवंटन के बारे में तत्काल जानकारी मांगी है।

क्या है मामला ?

बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी ने बीते मंगलवार को लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर 90 लाख रुपये के मिट्टी घोटाले का आरोप लगाया था। सुशील कुमार मोदी का आरोप है कि लालू की जमीन पर बन रहे पटना के सबसे बड़े मॉल की खुदाई में निकले मिट्टी को नीतीश सरकार के पर्यावरण एवं वन विभाग ने 90 लाख रुपए में बिना टेंडर निकाले खरीद लिया। सुशील मोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पत्रकारों को दस्तावेज दिखाते हुए कहा कि जिस जमीन पर यह मॉल बन रहा है यह जमीन डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड को दी गई थी।

आरोप है कि इस शॉपिंग मॉल में लालू के बेटे की हिस्सेदारी है। मॉल के निर्माण स्थल की मिट्टी को चिड़ियाघर के सौंदर्यीकरण के नाम पर 90 लाख रुपये में खरीद लिया गया। सुशील मोदी का आरोप है कि पर्यावरण और वन विभाग ने बिना टेंडर निकाले इतनी बड़ी डील कैसे की।

सुशील मोदी ने मांग की थी कि मिट्टी घोटाले में लालू के मॉल की मिट्टी की जांच कराई जाए तो साबित हो जाएगा की ज़ू की मिट्टी ही मॉल से आयी थी।

 


कमेंट करें