अभी-अभी

बिलकिस गैंपरेप केस: 11 आरोपियों की उम्र कैद की सज़ा बरकरार, 5 पुलिसवाले दोषी करार

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
156
| मई 4 , 2017 , 13:02 IST | मुंबई

बिलकिस बानो गैंपरेप केस में बॉम्बे हाईकोर्ट ने 11 दोषियों की अपील को खारिज कर दिया है और इन दोषियों की उम्र कैद की सजा बरकरार रखी है। मगर, कोर्ट ने सीबीआई की उस याचिका को खारिज कर दिया, जिसमें कुछ दोषियों को मौत की सजा देने की मांग की गई थी। गुरुवार को कोर्ट इस मामले की सुनवाई करते हुए 5 पुलिसवालों को सबूत मिटाने का दोषी पाया है।

बता दें कि 3 मार्च, 2002 को गोधरा दंगों के बाद दाहोद जिले के देवगड़ बरिया गांव में बिलकिस बानो के परिवार पर भीड़ ने हमला कर दिया था और 19 साल की बिलकिस बानो जो 5 महीने की गर्भवती थी उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया। इस हमले में परिवार के 14 लोगों की हत्या कर दी गई थी।

M_id_219715_bilkis_bano759

इस हमले में बिलकिस की 3 महीने की बेटी और 3 दिन के एक दूसरे बच्चे की मौत भी हो गई थी। बिलकिस का बलात्कार करने के बाद उसे बुरी तरह पीटा गया और मरा जानकर उसे छोड़ दिया गया। इस मामले में सीबीआई ने दोषियों में से 3 लोगों को मौत की सजा देने की मांग की थी, जिसे कोर्ट ने ठुकरा दिया। सीबीआई का मानना था कि यह एक सामूहिक हत्याकांड था।

CnbEDD7UAAAJ6T6

दिसंबर 2003 में सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में सीबीआई को जांच के आदेश दिए थे। इस मामले की निष्पक्ष सुनवाई हो सके इसलिए अगस्त 2004 को मामला मुंबई ट्रायल कोर्ट को सौंपा गया। जनवरी 2008 में कोर्ट ने 11 लोगों को हत्या और बलात्कार का दोषी माना था, जिसके बाद कोर्ट ने सभी को उम्रकैद की सजा सुनाई।

आरोपियों ने मुंबई हाईकोर्ट में इस फैसले के खिलाफ अपील की थी। हालांकि कोर्ट ने सुनवाई करते हुए सीबीआई की मौत की सजा वाली याचिका को खारिज कर दिया और 11 दोषियों की उम्रकैद की सजा बरकरार रखी।


कमेंट करें