खेल

B'day Special: 45 साल के हुए सौरव गांगुली, जानिए 'बंगाल टाइगर' की कुछ दिलचस्प बातें

कीर्ति सक्सेना, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
76
| जुलाई 8 , 2017 , 13:44 IST | नई दिल्ली

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान 'बंगाल टाइगर' के नाम से मशहूर सौरव गांगुली का आज 45वां जन्मदिन है। भारतीय क्रिकेट में गांगुली की गिनती उन खिलाड़ियों में से होती है, जिसने बतौर कप्‍तान टीम इंडिया को चोटी पर ले जाने में अहम भूमिका निभाई। दरअसल गांगुली शायद भारत के पहले कप्तान हैं जिन्होंने टीम इंडिया के खिलाड़ियों को मैदान पर आक्रमक क्रिकेट खेलने की गुर सिखाई।

क्रिकेट जगत में गांगुली का करियर जितना चमकदार रहा है, उतनी ही कॉन्ट्रोवर्सी भी रहा है।एक क्रिकेटर के तौर पर गांगुली को उनकी 'दादागिरी' के लिए भी जाना जाता है।

वैसे तो सौरव गांगुली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत साल 1992 में वन-डे से की। लेकिन उन्हें पहचान 1996 के इंग्लैंड दौरे से मिली, और उनकी आक्रामकता का प्रमाण दुनिया को साल 2002 की नेटवेस्ट सीरीज़ के दौरान हुआ था, जब भारत द्वारा फाइनल में इंग्लैंड को हराने के बाद उन्होंने पवेलियन में खड़े होकर अपनी टीशर्ट निकालकर लहराई थी।

36385790-india4-21-03-15

उनकी इस फोटो ने दुनियाभर में काफी सुर्खियां बटोरी थी और उन्होंने इसके जरिए दुनिया को संदेश दिया था कि भारतीय क्रिकेटर अब किसी भी मामले में पीछे नहीं है। वास्तव में गांगुली ने ऐसा इंग्लैंड के खिलाड़ी एंड्रयू फ्लिंटॉफ से बदला लेने के लिए किया था। वैसे अपनी इस हरकत के लिए दादा ने बाद में माफी भी मांग ली थी, लेकिन उनके इस कदम से भारतीय क्रिकेट की दशा और दिशा बदल चुकी थी।

सौरव गांगुली से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें:

-दादा के नाम से मशहूर सौरव गांगुली ने 113 टेस्ट मैचों में 7,212 रन बनाए हैं।

-टेस्ट मैच में सौरव गांगुली ने कुल 16 शतक बनाए।

-गांगुली ने 311 वनडे मैचों में 11,363 रन बनाए।

-वनडे में गांगुली ने कुल 22 शतक और 72 अर्धशतक जड़े हैं।

-गांगुली ने टेस्ट में 32 और वनडे में 100 विकेट हासिल किए।

-साल 2000 से 2005 के बीच सौरव की कप्‍तानी में भारत ने 21 टेस्‍ट मैचों में जीत हासिल की थी।

Sourav-ganguly

साल 2003 में सौरव गांगुली टीम इंडिया को आईसीसी वर्ल्‍ड कप के फाइनल तक ले गए थे, लेकिन फाइनल में भारत को ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा। जिसके बाद साल 2008 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई सीरीज ' बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी' उनकी आखिरी टेस्ट सीरीज थी। 

दादा के सम्मान में सड़क: पश्चिम बंगाल के उत्‍तरी 24 परगना जिले में सौरव के नाम पर डेढ़ किलोमीटर लंबी सड़क बनाई गई है।

वनडे में सबसे ज्यादा मैन ऑफ द मैच रहने के मामले में सौरव गांगुली सचिन तेंदुलकर के बाद दूसरे भारतीय क्रिकेटर हैं। सचिन तेंदुलकर 62 बार मैन ऑफ द मैच बन चुके हैं, जबकि गांगुली को 31 बार मैन ऑफ द मैच चुना गया है।

Sourav-Ganguly-628

सौरव गांगुली और डोना की लव स्टोरी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है। उनकी पत्नी डोना पेशे से एक ओडिशी डांसर थी। डोना सौरव गांगुली के पड़ोस में रहती थीं। स्कूल के दिनों से ही गांगुली डोना को प्यार करते थे। 12 अगस्त 1996 को शादी के बंधन में बंध गए।


कमेंट करें