नेशनल

बजट सत्र में बर्बाद हुए 23 दिन, पीएम मोदी समेत NDA के MP नहीं लेंगे वेतन

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
668
| अप्रैल 5 , 2018 , 15:02 IST

भारतीय जनता पार्टी औऱ उसके अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के संसद के सदस्यों ने फैसला किया है कि सांसद बजट सत्र के दूसरे हिस्से में 23 दिनों तक संसद में कोई कामकाज नहीं होने की वजह से इस दौरान का अपना वेतन और भत्ते नहीं लेंगे।

संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने बुधवार को बताया कि सरकार विपक्ष द्वारा उठाए जा रहे सभी मुद्दों पर बहस के लिए तैयार थी, लेकिन कांग्रेस के अड़ियल रुख की वजह से संसद में कामकाज नहीं हो सका।

कुमार ने कहा, ये वेतन एवं भत्ते जनता की सेवा के लिए दिए जाते हैं और यदि हम काम कर पाने में सक्षम नहीं रहे हैं, इसलिए हमें जनता का पैसा लेने का कोई हक नहीं है।

अनंत कुमार ने कांग्रेस पर सीधा निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी गैर लोकतांत्रिक तरीके से काम कर रही है और तमाम महत्वपूर्ण बिल पास होने से रोक रही है जो टैक्सपेयर्स के पैसे की बर्बादी है। संसद का यह सत्र शुक्रवार को खत्म हो रहा है।

कुमार ने कहा, हम हर मसले पर बहस को तैयार हैं, लेकिन वे (कांग्रेस) दोनों सदनों में कामकाज नहीं होने दे रहे हैं। गौरतलब है कि पांच मार्च को शुरू बजट सत्र के दूसरे चरण में एक भी दिन कोई कामकाज नहीं हो सका है और कांग्रेस सहित विभिन्न विपक्षी दल अलग-अलग मुद्दों पर कार्यवाही को बाधित करते रहे हैं।

संसद के बजट सत्र का दूसरा हिस्सा शुक्रवार को खत्म हो रहा है और आंध्र प्रदेश की पार्टियों समेत दूसरे कई अन्य मुद्दों को लेकर पिछले दिनों संसद हर दिन ठप रही और लगभग कोई कामकाज नहीं हो सका। हालत यह हुई कि सरकार को वित्त विधेयक भी आनन-फानन में बिना किसी बहस के ही पास कराना पड़ा।

बिना बहस के पास कराए गए वित्त विधेयक के दौरान ही सांसदों की वेतन और भत्ता बढ़ाए जाने संबंधी प्रस्ताव को वित्त विधेयक का हिस्सा बनाकर पास करा लिया गया। अब सांसदों का वेतन-भत्ता महंगाई के अनुसार खुद-ब-खुद बढ़ जाया करेगा।

आंध्र प्रदेश के लिए स्पेशल पैकेज की मांग को लेकर राज्य में सत्तारुढ़ तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) और वाईएसआर कांग्रेस के सांसद लगातार संसद में हंगामा करते रहे।

इसे भी पढ़ें-: CAG रिपोर्ट: सवालों में दिल्ली सरकार, स्कूटर और तिपहिया वाहन से हुई राशन की सप्लाई

वेतन भत्ता नहीं लेने के NDA के ऐलान से पहले ही आम आदमी पार्टी के सांसद यह ऐलान कर चुके हैं कि वह संसद नहीं चलने की वजह से अपना वेतन भत्ता नहीं लेंगे। में आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने बाकायदा सभापति को चिट्ठी लिखकर इसकी जानकारी दी थी।

दूसरी ओर, वाईएसआर कांग्रेस के सांसद इस बात का एलान कर चुके हैं कि इसी सत्र के आखिरी दिन उसके सभी सांसद आंध्र प्रदेश को स्पेशल पैकेज नहीं दिए जाने के विरोध में संसद से इस्तीफा दे देंगे।


कमेंट करें