बिज़नेस

एयर इंडिया को बेचने का मास्टर प्लान हुआ तैयार! सरकार जल्द करेगी ऐलान

अनुराग गुप्ता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
185
| जुलाई 9 , 2017 , 15:46 IST | नई दिल्ली

कर्ज में डूबी व घाटे में चल रही सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया को सरकार ने बेचने का मन बना लिया है। इतना ही नहीं बल्कि सरकार इसे टुकड़ों में बेचने पर विचार कर रही है। इस कदम के पीछे सरकार का उद्देश्य संभावित खरीदारों के लिए इसे 'फायदे का सौदा' बनाना है। बता दें कि पिछले महीने ही मोदी सरकार की कैबिनेट ने एयर इंडिया में विनिवेश को सैद्धांतिक मंजूरी दी थी।

Airindia1

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक इसे बेचने की प्रक्रिया अगले साल तक शुरू हो सकती है क्योंकि पीएम मोदी इसे अपने कार्यकाल पूरा होने तक इसकी प्रक्रिया पूर्ण करना चाहते है। आपको बता दें कि पिछले कई सालों में एयर इंडिया की रख-रखाव में अरबों डॉलर खर्च किए जा चुके हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक जल्द ही वित्त मंत्री अरुण जेटली की अगुवाई में पांच मंत्रियों की एक बैठक बुलाई जाएगी। फिलहाल इसे खरीदने के लिए इंडिगो और टाटा समूह ने दिलचस्पी दिखाई है। अपने महाराजा मैस्कॉट के लिए पहचानी जाने वाली एयर इंडिया पहली बार 1930 में अस्तित्व में आई।

एयर इंडिया पर करीब 55,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। 2012 में यूपीए सरकार ने उसे 30,000 करोड़ रुपये का बेल आउट पैकेज दिया था। एयर इंडिया को कर्ज से उबारने के लिए अभी तक सरकार द्वारा उठाए गए सारे कदम असफल रहे। अगर मोदी सरकार इसे बेचने में कामयाब हुई तो मोदी की छवि और भी ज्यादा मजबूत हो जाएगी।

Air-India

नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर अधिकारियों ने बताया कि एयर इंडिया की बिक्री की प्रक्रिया में काफी वक्त लगेगा। हालांकि अभी तक राय नहीं बन पाई है कि सरकार इसे पूरी तरह से बेच दे या फिर इसका कुछ हिस्सा अपने पास रखे और यह भी नहीं कहा जा सकता कि खरीददार सिर्फ अपने मुनाफें की चीजें खरीद ले और सरकार के पास लाभहीन हिस्से बच जाए।

एयर इंडिया के 2500 कर्मचारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले एक लेबर यूनियन ने विमान के बेचे जाने का विरोध किया। एयर इंडिया के पास करीब 8 हजार करोड़ की रियल एस्टेट प्रॉपर्टी है जिसमें दो होटल शामिल हैं। मगर इनका मालिकाना हक कई सरकारी विभागों में बंटा हुआ है। इतना ही नहीं बल्कि छह सहायक इकाइयों वाले एयर इंडिया के तीन इकाइयों का कुल घाटा 30 हजार करोड़ रुपये है।


कमेंट करें