नेशनल

EVM पर सरकार का बड़ा फैसला, VVPAT मशीनों के लिए जारी किए 3000 करोड़

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
227
| अप्रैल 19 , 2017 , 19:09 IST | नई दिल्ली

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को निर्वाचन आयोग (ईसी) के कागज रसीद वाली इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों की खरीद के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। मंत्रिमंडल की बैठक के बाद केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने संवाददाताओं से कहा कि निर्वाचन आयोग के आकलन के अनुसार इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) के लिए कुल 16,15,000 वोटर वेरिफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) इकाइयों की जरूरत होगी। उन्होंने कहा कि इस पर करीब 3,173.47 करोड़ रुपये का खर्च आएगा।

Election

जेटली ने कहा,

यदि हम अप्रैल में आदेश देते हैं तो पूरी आपूर्ति सितंबर 2018 में होगी। इसलिए इसके बाद के चुनावों में सभी मतदान केंद्रों पर वीवीपीएटी मशीनें उपलब्ध होंगी।

उन्होंने कहा कि इन मशीनों की खरीद का खर्च दो वित्तीय वर्षो में आएगा। उन्होंने कहा, निर्वाचन आयोग चुनाव कराने के लिए लगातार वीवीपीएटी मशीनों की मांग कर रहा था और मंत्रिमंडल ने इस मांग को आज मंजूरी दे दी। 

जेटली ने कहा कि इस कदम से मतदान प्रक्रिया में ज्यादा पारदर्शिता आएगी। साथ ही कहा कि, मतदाताओं को जानने का हक है कि क्या उनका वोट सही दर्ज हो रहा है या नहीं।

Vote

कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) द्वारा लगाए गए ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोपों के मद्देनजर केंद्रीय मंत्रिमंडल का वोटर वेरिफिएबल पेपर आडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) मशीनों के खरीदने का फैसला महत्वपूर्ण है।


कमेंट करें