अभी-अभी

17 विपक्षी दलों के गठबंधन से हम रत्ती भर परेशान नहीं: वेंकैया नायडू

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
130
| मई 28 , 2017 , 16:22 IST | नयी दिल्ली

केंद्रीय मंत्री एम. वेकैंया नायडू का कहना है कि 17 विपक्षी पार्टियों के साथ आने से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) रत्ती भर भी परेशान नहीं है। उन्होंने कहा कि इससे राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को न अभी कोई खतरा है और न ही 2019 लोकसभा चुनावों में कोई खतरा होगा।

नायडू ने कहा कि वे (विपक्षी दल) अंतर्विरोधों से भरे हुए हैं और वे सिर्फ (प्रधानमंत्री) मोदी के भय की वजह से साथ आए हैं जिन्होंने तीन सी यानि करप्शन (भ्रष्टाचार), कास्टिस्ट (जातिवादियों) व कम्युनल एलीमेंट्स (सांप्रदायिक तत्वों) को मिटा दिया है। नायडू ने कहा, "हमारे पास एक नेता, एक विचारधारा और स्पष्ट नीति है। विपक्ष में विरोधाभास है। कोई वैचारिक सामंजस्य नहीं है। उनके पास नरेंद्र मोदी के कद का कोई नेता नहीं है।"

VENKAIAH-NAIDU

उन्होंने कहा, "मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। उन्हें साथ आने दीजिए। वे द्वेष से भरे हुए व परेशान हैं क्योंकि मोदी ने भ्रष्टाचार, जाति और सांप्रदायिक तत्वों को मिटा दिया है। वे बहुत परेशान हैं। कम्युनिस्ट व कांग्रेस इन तत्वों के साथ सहानुभूति रखते हैं।" सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि कांग्रेस व कम्युनिस्ट केरल में आमने-सामने हैं और कांग्रेस, वाममोर्चा और तृणमूल कांग्रेस पश्चिम बंगाल में एक दूसरे से लड़ाई कर रहे हैं।

दिल्ली में राष्ट्रपति चुनाव के लिए एक उम्मीदवार तय करने व 2019 चुनावों में संभावित भाजपा विरोधी महागठबंधन बनाने के लिए विपक्षी दलों की शुक्रवार की बैठक को लेकर नायडू ने विपक्ष पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, "दिल्ली में सहयोग व पश्चिम बंगाल में एक-दूसरे के खिलाफ अभियान चल रहा है। इन सबके बीच कभी अलग हो जाते हैं और फिर दिल्ली में साथ फोटो खिंचवाते हैं।"

26sonia

 नायडू ने कहा, "हम विश्वास से लबरेज हैं और वे संदेह से भरे हैं। हम एकजुट हैं, वे विभाजित हैं।" उन्होंने 1996 की युनाइटेड फ्रंट सरकार के प्रयोगों व तीसरा मोर्चा गठबंधन को याद किया और कहा कि युनाइटेड फ्रंट एक डिसयुनाइटेड फ्रंट बन गया और तीसरा मोर्चा बहुत पीछे तीसरे नंबर पर रह गया। 

Sonia


कमेंट करें