नेशनल

नारदा स्टिंग में CBI ने दर्ज़ किया केस, ममता की बढ़ सकती है मुश्किलें

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
158
| मार्च 21 , 2017 , 13:30 IST | कोलकाता

सीबीआई ने नारदा स्टिंग मामले में प्राथमिक जांच की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। आपको बता दें की कोलकाता हाई कोर्ट ने शुक्रवार को यानी 17 मार्च 2017 को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को नारदा स्टिंग ऑपरेशन की प्राथमिक जांच का आदेश दे दिया था। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति निशिता महात्रे और न्यायमूर्ति टी. चक्रवर्ती की सदस्यता वाली खंडपीठ ने सीबीआई को 72 घंटे के भीतर अपनी प्राथमिक जांच पूरी करने का निर्देश दिया था।

पीठ ने स्टिंग ऑपरेशन के लिए इस्तेमाल किए गए सभी उपकरण 24 घंटे के भीतर अपने कब्जे में करने को कहा था, जो उस समय अदालत के कब्जे में थे। अदालत ने मामले की स्वतंत्र जांच संबंधी तीन जनहित याचिकाएं सुनने के बाद यह फैसला दिया था। नारदा स्टिंग मामला मार्च 2016 में सामने आया था।

C7GuHFjXgAEVM6W

क्या है पूरा मामला-

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से ठीक पहले तृणमूल कांग्रेस के 11 नेता कैमरे पर रिश्वत लेते पकड़े गए थे। एक वेब पोर्टल नारदा न्यूज ने इस स्टिंग ऑपरेशन को रिलीज किया था। इस स्टिंग में पार्टी के सांसद, नेता, विधायक सहित एक पुलिस अधिकारी भी कैमरे पर पकड़े गए थे।

इस वीडियो में तृणमूल में कांग्रेस के सौगुप्ता रॉय, सुवेंदू अधिकारी, सुल्कान अहमद, अपरूपा पोद्दार, काकोली घोष, दसतिदार,प्रसून बनर्जी, सुब्रता मुखर्जी, फिरहाद हकीम, मदन मित्रा, इकबाल अहमद और सीनियर आईपीएस अधिकारी एसएमएच मिर्जा जैसे नाम शामिल हैं।

शुक्रवार को ही पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि वे बड़ी बेंच के पास जाएंगी। बनर्जी ने कहा था कि, 'सब जानते हैं कि ये स्टिंग बीजेपी कार्यालय से आया था।'