नेशनल

67000 करोड़ के घोटाले में बुरे फंसे प्रफुल्ल पटेल! CBI करेगी एयर इंडिया घोटाले की जांच

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 5
2870
| जनवरी 5 , 2017 , 17:36 IST | नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को सीबीआई से कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के दौरान एयर इंडिया द्वारा साल 2004 से 2008 के बीच विमान की खरीद तथा पट्टे पर लेने में हुए कथित घोटाले की जांच करने को कहा है। गैर सरकार संगठन (एनजीओ) सेंटर फॉर पब्लिक इंट्रेस्ट लिटिगेशन (एसपीआईएल) ने निजी विमानन कंपनियों को सरकारी खर्च पर द्विपक्षीय मार्गो के आवंटन सहित कई आरोप लगाए हैं।

याचिका में कहा गया है कि यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान एयर इंडिया ने बिना वजह 111 विमान खरीदे, जिससे सरकारी खजाने को 67,000 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ।

News_1449127620_

सेंटर फॉर पब्लिक इंट्रेस्ट लिटिगेशन के वकील प्रशांत भूषण ने याचिका में कहा है कि ये घोटाला उस समय हुआ जब नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल थे। उन्होंने अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि पटेल की वजह से एयर इंडिया को बायोमेट्रिक सिस्टम की खरीदी में गड़बड़ी की। ये खरीदी एक हजार करोड़ रुपये की की गई ।

प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति जगदीश सिंह केहर, न्यायमूर्ति एन.वी.रमन्ना तथा न्यायमूर्ति डी.वाई.चंद्रचूड़ ने कहा कि अगर सीबीआई जांच से याचिकाकर्ता संतुष्ट नहीं होता है, तो वह न्यायालय का दरवाजा खटखटाने के लिए स्वतंत्र है।

जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायालय ने उम्मीद जताई कि जांच एजेंसी जून 2017 तक जांच पूरी करने की समय सीमा का पालन करेगी।

याचिकाकर्ता संगठन सीपीआईएल के वकील ने न्यायालय की निगरानी में जांच की मांग की थी। लेकिन न्यायमूर्ति केहर ने कहा कि अगर वही (संप्रग) सरकार सत्ता में होती तो इसकी अहमियत समझी जा सकती थी।

प्रधान न्यायाधीश ने कहा,

जब सरकार अलग है, तो सत्ता में पार्टी भी अलग है। हमें अपनी जांच एजेंसी पर भरोसा करना चाहिए।