इंटरनेशनल

CPEC पर भारत से बात करना चाहते हैं : चीन

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
108
| जनवरी 30 , 2018 , 10:03 IST

चीन ने सोमवार को कहा कि वह चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) को लेकर भारत से बातचीत करने के लिए तैयार है। बता दें यह गलियारा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (POK) से गुजरता है। बीजिंग की यह प्रतिक्रिया चीन में भारत के राजदूत गौतम बांबावले की ग्लोबल टाइम्स से बातचीत के बाद आई है।

इस मामले में भारतीय राजदूत ने बातचीत में सीपीईसी को बड़ी समस्या बताया था। भारत के राजदूत गौतम बांबावले ने कहा था कि इसे छिपाया नहीं जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि चीन ने फिर कहा है कि अरबों डॉलर की इस परियोजना का मकसद महज आर्थिक सहयोग है और इसे भारत को लक्ष्य करके नहीं तैयार किया गया है।

54789347-84bd-4cf7-b3c7-1f48170910ca

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने यहां कहा, "सीपीईसी के संबंध में चीन ने अपना पक्ष दोहराया है। जहां तक चीन और भारत के बीच मतभेद की बात है तो इसका उचित समाधान तलाशने के लिए भारत के साथ बातचीत करने को तैयार हैं ताकि इन मतभेदों से हमारे राष्ट्रीय हितों पर कोई असर न हो। यह दोनों देशों के हितों में है।"

इसे भी पढ़ें: काबुल मिलिट्री यूनिवर्सिटी हमले में पांच जवानों की मौत, 3 हमलावर ढेर

बीजिंग की बेल्ट व रोड रोड पहल के तहत शुरू की गई 50 अरब डॉलर की विशाल परियोजना के कारण पिछले कुछ सालों में भारत और चीन के बीच ज्यादा मतभेद उभरकर सामने आया है।सीपीईसी चीन के शिंजियांग प्रांत के कशगर से लेकर पाकिस्तान के बलूचिस्तान स्थित ग्वादर बंदरगाह तक सड़क, रेलवे और राजमार्गो का विशाल नेटवर्क तैयार करने की परियोजना है।

भारत ने इस गलियारे का सख्ती से विरोध किया है क्योंकि यह पीओके से गुजरता है और भारत इस क्षेत्र पर अपना दावा करता है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर हैं

कमेंट करें