नेशनल

चंडीगढ़ छेड़खानी मामले में चौंकाने वाला ख़ुलासा, 9 में से 6 सीसीटीवी फुटेज गायब

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
291
| अगस्त 7 , 2017 , 13:25 IST | चंडीगढ़

चंडीगढ़ आईएएस की बेटी का बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के बेटे द्वारा पीछा करने और छेड़छाड़ के मामले में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। चंडीगढ़ पुलिस का दावा है कि जिस रास्ते में पीछा किया गया, उसके 6 लोकेशन के सीसीटीवी फुटेज गायब हैं। बताया जा रहा है कि उस रास्ते में कुल 9 सीसीटीवी कैमरे लगे थे जिनमें से सिर्फ 3 ही काम करते हुए मिले। सूत्रों के हवाले से ये भी जानकारी मिल रही है कि पुलिस को इन 4 सीसीटीवी फुटेज में घटना से जुड़ी कोई अहम चीजें नहीं मिली हैं।

29 साल की युवती वर्णिका कुंडु जिसके साथ छेड़खानी की घटना हुई, ने दावा किया कि हरियाणा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बारला और उसके दोस्त आशीष कुमार ने पिछले शुक्रवार को उसका पीछा किया। इसके बाद अपनी एसयूवी कार को उसकी कार के बराबर में लगातार करीब लाकर चलाता रहा और कई बार तो रास्ता रोकने की भी कोशिश की।

Barala

सीसीटीवी फुटेज अहम सबूत हो सकता था

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, इस मामले में सीसीटीवी फुटेज एक महत्वपूर्ण दस्तावेज साबित हो सकता है। हरियाणा बीजेपी के उपाध्यक्ष रामवीर भट्टी ने इस मामले को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि लड़की को रात के 12 बजे के बाद बाहर नहीं जाना चाहिए था। वो रात को इतनी लेट क्यों ड्राइव कर रही थी. माहौल ठीक नहीं है। हमें अपनी हिफाजत खुद से करनी होगी।

इंडियन एक्सप्रेस में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, शिकायतकर्ता वर्णिका कुंडु ने पुलिस में अपनी शिकायत में लड़कों पर अपहरण की कोशिश का आरोप भी लगाया था, लेकिन पुलिस ने वर्णिका की इस शिकायत को एफआईआर का हिस्सा नहीं बनाया, जिसकी वजह से हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष के बेटे विकास बराला को थाने से ही जमानत मिल गई।

जबकि बीजेपी के कुरुक्षेत्र के सांसद राजकुमार सैनी ने प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष से इस्तीफा देने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि सुभाष बराला को चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामले में इस्तीफा दे देना चाहिए।

कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने चंडीगढ़ में लड़की से बदसलूकी और पीछा करने के मामले में भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। उन्‍होंने घटना की आलोचना करते हुए दोषियों पर कार्रवाई करने को कहा। साथ ही कहा कि दोषियों के साथ सांठगांठ मत कीजिए।

हरियाणा के सीएम ने किया आरोपी के पिता का समर्थन

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर उलटे बराला का ही समर्थन करते नजर आए। खट्टर ने हिसार में पत्रकारों से कहा, इस मामले का सुभाष बराला से कोई लेना-देना नहीं है। यह एक व्यक्ति से जुड़ा मामला है। अगर आरोप सही साबित होता है, तो यह बेहद निंदनीय है। खट्टर ने कहा, मुझे इस बारे में बताया गया। आरोपी अगर दोषी पाया गया तो उसे सजा दी जाएगी। इस मामले पर यह मेरा आधिकारिक पक्ष है। मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि उन्हें चंडीगढ़ पुलिस में पूरा विश्वास है और न्याय अपना काम करेगी। चंडीगढ़ के पुलिस उप अधीक्षक (पूर्वी) सतीश कुमार ने कहा है कि दोनों आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 354 और 341 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।




कमेंट करें