अभी-अभी

मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने में चीन का अड़ंगा, फिर नहीं लग पाया बैन

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
270
| अगस्त 3 , 2017 , 21:01 IST | नयी दिल्ली

चीन ने एक बार फिर आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर अड़ंगा लगाया है। चीन ने पठानकोट हमले के मास्टरमाइंड आतंकी मसूद अजहर पर अपने वीटो अधिकार का इस्तेमाल किया है। अमेरिका, फ्रांस और यूके की तरफ से जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर चीन ने 3 महीने के लिए तकनीकी रोक लगा दी है। इस साल फरवरी में भी चीन ने मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के अमेरिका के प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र में बाधित किया था।

चीन द्वारा मसूद अजहर को आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर तकनीकी बाधा की आखिरी तारीख 2 अगस्त थी। अगर चीन इस तारीख के बाद फिर से बाधित करने का फैसला नहीं लेता तो मसूद अजहर संयुक्त राष्ट्र की तरफ से औपचारिक तौर पर आतंकी घोषित किया जा सकता था। सूत्रों के मुताबिक, डेडलाइन खत्म होने के ठीक पहले चीन ने फिर एक बार फिर प्रस्ताव पर 3 महीने के लिए तकनीकी बाधा पैदा कर दी है। अब रोक की तारीख 2 नवंबर तक की है।
Masood-Azhar-875

आपको बता दें कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य होने के कारण चीन के पास वीटो पावर है। चीन ने इससे पहले भी कई बार जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रयासों को बाधित किया है। पिछले साल मार्च में 15 देशों में सिर्फ चीन ही अकेला देश था जिसने जैश के सरगना को वैश्विक आतंकी घोषित करने के भारत के प्रस्ताव के विरोध में मतदान किया था। समिति के सभी 14 देशों ने भारत के प्रस्ताव का समर्थन किया था।

भारत ने मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र की धारा 1267 के अंतर्गत लिस्ट करने की मांग की थी, जिसके बाद उसके खुले घूमने और यात्राओं पर प्रतिबंध लग जाता। उस वक्त लगाई गई तकनीकी रोक की समय सीमा 6 महीने बाद सितंबर में समाप्त होनी थी। उसके बाद चीन ने फिर से इस पर 3 महीने के लिए रोक लगाया था।

Masood-azhar

आपको बता दें कि 2-3 जनवरी 2016 की दरमियानी रात पाकिस्तान से आए आतंकियों ने पंजाब में पठानकोट एयरफोर्स के बेस पर हमला किया था। इसमें 7 जवान शहीद हुए थे। 4 दिन तक चले कॉम्बिंग ऑपरेशन में जवानों ने चारों आतंकियों को मार गिराया था। इस हमले का मास्टरमाइंड मौलाना मसूद अजहर था। यह भी खुफिया जानकारी मिली थी कि अजहर मसूद ने 2016 में पठानकोट हमले के बाद फोन के जरिए एक बड़ी रैली को संबोधित किया था, जिसमें उसने भारत के खिलाफ फिर से जिहाद शुरू करने का एलान किया था।


कमेंट करें