नेशनल

नाथुला दर्रे के विकल्प पर बात करने को तैयार है चीन, दोबारा शुरू हो सकती है मानसरोवर यात्रा!

अनुराग गुप्ता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
168
| जुलाई 6 , 2017 , 11:51 IST | नई दिल्ली

चीन द्वारा नाथुला दर्रे से होने वाली मानसरोवर यात्रा को रोके जाने के बाद अब चीनी दूतावास ने कहा कि चीन नाथुला दर्रे के जरिए कैलाश मानसरोवर यात्रा बनाने वाले तीर्थयात्रियों के लिए दूसरे मार्गों के जरिए वैकल्पिक प्रबंधों की संभावना पर वार्ता करने के लिए तैयार है।

Nathula

भारत में चीनी दूतावास की प्रवक्ता शीए लियान ने एक बयान में कहा कि, लिपुलेख दर्रा के जरिए आधिकारिक यात्रा और ल्हासा एवं पुरांग के जरिए गैर आधिकारिक यात्रा अब भी सामान्य है। उन्होंने कहा कि, भारतीयों द्वारा कैलाश मानसरोवर की यात्रा भारत और चीन के लोगों के बीच बेहतर रिश्ते कायम करने और सांस्कृतिक आदान-प्रदान का मुख्य अंग है।

लियान ने कहा कि इस साल होने वाली मानसरोवर यात्रा के लिए दोनों पक्षों ने सहमति जताई थी कि नाथुला दर्रे के जरिए शिजांग की यात्राओं में 7 जत्थों में कुल 350 यात्री हिस्सा लेंगे। मगर यात्रियों के रवाना होने से कुछ दिन पहले भारतीय सीमा बल चीनी इलाके में आ गए और उन्होंने डोकलाम में चीनी सैन्य बलों की सामान्य गतिविधियों को बाधित किया।

1200px-Nathu_La-Stairs

चीनी दूतावास के प्रवक्ता ने यह भी बताया कि, भारतीय यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर औऱ उनकी आसान यात्रा के लिए चीन ने नाथुला के जरिए उनकी एंट्री पर रोक लगा दी थी चीनी पक्ष ने राजनयिक माध्यम से भारतीय पक्ष को यह अधिसूचना दे दी है। दरअसल, चीन द्वारा दिए गए इस बयान में भारत पर चीनी सीमा पार करने का आरोप लगाया गया है जबकि भारत का कहना है कि वह चीन की मौजूदा स्थिति से काफी चितिंत है जिसकी जानकारी चीनी सरकार को दे दी गई है।


कमेंट करें