अभी-अभी

सुषमा के बयान पर भड़का चीन, कहा-डोकलाम से पीछे हटे भारत...अब बर्दाश्त नहीं करेंगे!

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
298
| अगस्त 4 , 2017 , 13:11 IST | नयी दिल्ली

भारत और चीन के बीच डोकलाम विवाद को लेकर तनातनी बढ़ती जा रही है। गुरुवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संसद में डोकलाम सीमा विवाद पर भारत का पक्ष रखा वहीं शुक्रवार को चीन ने एक बार फिर इस मुद्दे पर गीदड़ भभकी दी है। चीन ने भारत को धमकी देते हुए कहा है कि अगर भारत अपने सैनिक वापस नहीं बुलाता है तो उसे इसका गंभीर परिणाम भुगतना पड़ेगा।

1230xijinping01

चीन के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता और पीएलएन के कर्नल रेन गुओकियांग की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि चीन ने गुडविल दिखाते हुए इस मामले पर अभी कूटनीतिक हल का रास्ता अपनाया है। लेकिन इसकी भी एक सीमा है और संयम खत्म होने की ओर है। चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि भारत को इस भ्रम से खुद को निकाल देना चाहिए कि देर करने से डोकलाम समस्या का हल हो जाएगा। धमकी देते हुए चीनी सेना के प्रवक्ता ने कहा कि चीन की जमीन को कोई भी देश ले नहीं सकता। चीनी सेना अपने भूभाग और संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरी तरह सक्षम है।

Ap_645223197052-e1501140028722

उधर, दिल्ली में चीन के वरिष्ठ राजनयिक लियु जिनसोंग ने कहा कि भारतीय सैनिकों ने डोकलाम में अवैध तरीके से सीमा पार की है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि अगर भारत सच में चीन के साथ शांति चाहता है, तो उसे तुरंत डोकलाम सीमा से अपने सैनिक वापस बुला लेने चाहिए।

Sushma-220915

गुरुवार को राज्यसभा में चीन-भारत संबंधों पर सुषमा स्वराज ने पड़ोसी देशों के साथ रिश्तों पर अपनी बात रखी। सुषमा स्वराज ने कहा कि युद्ध कोई विकल्प नहीं है। भारत-चीन और भूटान इस मामले का समाधान बातचीत से निकालेंगे। सुषमा स्वराज ने कहा कि भारत अपने सम्मान की रक्षा के लिए तैयार है लेकिन शांति को प्राथमिकता देना हमारी नीति है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने चीन को डोकलाम इलाके को लेकर 2012 के त्रिपक्षीय समझौते के पालन की सलाह भी दी।


कमेंट करें