नेशनल

'ड्रैगन' ने अलापा अलग राग, कहा- भारत ने डोकलाम पर चीन का कब्जा मान सेना हटाई

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
94
| अगस्त 30 , 2017 , 17:23 IST | नयी दिल्ली

डोकलाम के मामले पर चीन ने एक बार फिर भारत के खिलाफ बयान दिया है। चीन ने साफ कर दिया है कि भारत ने डोकलाम से अपनी सेनाएं हटा दी हैं लेकिन चीन की सेनाएं वहां बनी हुई हैं। चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने कहा है कि डोकलाम पर भारत ने चीन का कब्जा मान लिया है। सरकारी मीडिया का कहना है कि,

चीन का कब्जा मानकर ही भारत ने अपनी सेना डोकलाम ने हटा लिया है। चीन की सेना डोकलाम में बनी रहेंगी और वहां पर गश्त करती रहेंगी।

आपको बता दें कि 28 अगस्त को दोनों देशों ने डोकलाम में तैनात अपने सैनिकों को वापस बुलाने का फैसला किया था। भारत की ओर से विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बयान भी जारी किया था। लेकिन चीन ने कहा कि भारत ने डोकलाम से अपनी सेनाएं हटा दी हैं लेकिन चीन की सेनाएं क्षेत्र में बनी रहेंगी और क्षेत्र में अपनी संप्रभुता कायम रखेंगी।

Chine-army

चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन के सीमाबल 'डोकलाम में गश्त जारी रखेंगे'। चीन के विदेश मंत्रालय की प्रक्ता हु चुनयिंग ने कहा था, "28 अगस्त की दोपहर भारत ने डोकलाम की सीमा से अपनी सेनाएं और उपकरण हटा दिए। चीन के सुरक्षाकर्मियों ने इसकी पुष्टि की है।

16 जून को विवाद तब शुरू हुआ था, जब भारतीय सैनिकों ने इलाके में सड़क बना रहे चीनी सैनिकों को रोक दिया था। भारत के साथ ही भूटान भी इस मामले में चीन के खिलाफ था।

Ap_645223197052-e1501140028722

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले हफ्ते चीन यात्रा पर जा रहे हैं। प्रधानमंत्री ब्रिक्स देशों ( ब्राजील, रूस, भारत, चीन, साउथ अफ्रीका) के 3 से 5 सितंबर के बीच होने वाले सम्मेलन में भाग लेने चीन जाएंगे। अगर मोदी गतिरोध के चलते चीन नहीं जाते तो ग्लोबल पावर बनने की ख्वाहिश रखने वाले चीन के लिए मुश्किल खड़ी हो जाती। वह वन बेल्ट वन रोड प्रोजेक्ट से दुनिया के बड़े हिस्से को जोड़ने की बात कर रहा है, लेकिन इस प्रोजेक्ट में भारत की सार्वभौमिकता का खयाल न रखने से संदेश अच्छा नहीं गया। उसे विस्तारवादी देश के तौर पर देखा जा रहा है।


कमेंट करें