इंटरनेशनल

CIA का बड़ा बयान, नॉर्थ कोरिया कर सकता है अमेरिका पर परमाणु हमला

आशुतोष कुमार राय, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
128
| जनवरी 30 , 2018 , 18:58 IST

विश्व के सबसे ताकतवर देश अमेंरिका की खुफिया एजेंसी CIA के निदेशक ने कहा कि इस बात की चिंता है कि उत्तर कोरिया के पास ऐसे न्यूक्लियर मिसाइल हैं, जिससे वह एक महीने के अंदर अमेरिका पर हमला कर सकता है। गौरतलब है कि इन दिनों अमेंगिका को उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन का खौफ सता रहा है।

माइक पॉम्पिओ ने CIA हेडक्वॉर्टर्स में इंटरव्यू के दौरान कहा, 'हम उनकी एक महीने के अंदर अमेरिका पर परमाणु हथियारों से हमला करने की क्षमता के बारे में चर्चा करते हैं। हमारा काम अमेरिका के राष्ट्रपति तक इस बारे में खुफिया जानकारी पहुंचाना है ताकि उनके पास इस जोखिम को गैर-कूटनीतिक तरीके से कम करने के विकल्प हों।'

पॉम्पिओ ने यह भी माना कि उत्तर कोरिया पर दबाव डालने के नतीजे के तौर पर इस क्षेत्र में जीवन को भयंकर नुकसान हो सकता है, जहां अमेरिका के दो अहम सहयोगी देश जापान और दक्षिण कोरिया भी हैं।

पॉम्पिओ ने कहा कि अगर किम को हटाने की कोशिश हुई या फिर अमेरिका पर परमाणु हमले की उसकी क्षमता को सीमित करने की कोशिश की गई तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के कार्यकाल के पहले ही साल में प्योंगयांग के साथ तनाव को बढ़ाया है। इसमें दोनों देशों के नेताओं के एक-दूसरे पर निजी हमले भी शामिल हैं।

ट्रंप ने वादा किया था कि अगर उत्तर कोरिया अपने परमाणु कार्यक्रम पर लगाम नहीं लगाता है तो उसके इसके परिणाम भुगतने होंगे। इसके अलावा किम ने भी डॉनल्ड ट्रंप के लिए 'दुष्ट' और 'सठियाया' जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था।

पॉम्पिओ ने कहा कि उत्तर कोरिया के लिए राष्ट्रपति ट्रंप जिस भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं वह प्योंगयांग सुन रहा है।

इसे भी पढ़ें-: भारतीय नौसेना की बढ़ेगी ताकत, दुश्मन को मात देने आ रही है 'करंज'

पॉम्पिओ बोले, 'जब आप एक राष्ट्रपति को इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करते देखते हैं तो इसको सुनने वाले कई लोग होते हैं...और मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि किम जोंग-उन यह संदेश समझते हैं कि अमेरिका गंभीर है।'

दोनों देशों के नेताओं के बीच जुबानी जंग बढ़ने के बाद उत्तर कोरिया ने कई मिसाइल टेस्ट भी किए जिसने पश्चिम में चिंताएं बढ़ाई और तनाव भी पैदा किया।

उत्तर कोरिया ने साल 2017 में कम से कम 20 बलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया, जिनमें से 3 अंतरमहाद्वीपीय बलिस्टिक मिसाइल टेस्ट थे। अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने उत्तर कोरिया के लगातार मिसाइल परीक्षणों के जारी रहने की वजह से उसपर कई आर्थिक प्रतिबंध भी लगाए हैं।


कमेंट करें