बिज़नेस

पहली तिमाही के बाद दिखेंगे इंडियन इकॉनमी के अच्छे दिन, GST बड़ी उपलब्धि - CII

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
187
| मई 21 , 2017 , 20:24 IST | नई दिल्ली

देश के अग्रणी उद्योग मंडल सीआईआई ने अपने हालिया सर्वेक्षण के हवाले से कहा कि बेहतर वित्तीय लिंकेज की बदौलत भारत की अर्थव्यवस्था में मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में बहुआयामी सुधार होगा। सीआईआई ने कहा है कि उपलब्ध पूंजी और घरेलू आर्थिक गतिविधियों में भी वृद्धि होगी।

Eco 2

सीआईआई ने एक वक्तव्य जारी कर कहा कि,

सीआईआई-आईबीए की वित्त वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही के लिए वित्तीय स्थिति सूचकांक 56.9 है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में भारतीय अर्थव्यवस्था में बहुआयामी सकारात्मकता को दर्शाता है

31 बैंकों और वित्तीय संस्थानों के सर्वेक्षण का नतीजा

सीआईआई ने इंडियन बैंक्स सर्विसिस (आईबीए) के साथ संयुक्त रूप से यह सर्वेक्षण किया है, जिसमें 31 बैंकों और वित्तीय संस्थानों को शामिल किया गया। सर्वेक्षण में हालांकि निकट भविष्य में तरलता में कमी आने के कारण पूंजी लागत में वृद्धि होने का संकेत भी दिया है।

Eco 1

सीआईआई का कहना है कि,

पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में निधि लागत सूचकांक 66 था, जिसके इस वर्ष घटकर 40.3 पर रहने की संभावना है

अधिकतर लोगों ने ब्याज दरों में वृद्धि की संभावना जाहिर की।

Cii

सीआईआई के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने कहा कि,

वित्तीय स्थिति सूचकांक में सुधार भारतीय वित्त बाजार के लिए सकारात्मक संकेत है, जिसका मुख्य कारण खपत में वृद्धि, बुनियादी ढांचे पर खर्च में वृद्धि और जीएसटी जैसे अहम सुधार होंगे

जीएसटी मोदी सरकार की बेहतरीन उपलब्धि होगी- एसोचैम

उधर, उद्योग संगठन एसोचैम ने रविवार को कहा कि अखिल भारतीय एकल कर प्रणाली वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) मोदी सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि होगी।
एसोचैम ने एक विज्ञप्ति में कहा कि राजग सरकार ने सत्ता में करीब तीन साल पूरे कर लिए।

Gst

इसके साथ ही जीएसटी लागू होने के करीब है, इसके आर्थिक मोर्चे पर दूसरी उपलब्धियों में वित्तीय समावेशन, डिजिटीकरण व बुनियादी ढांचे में सार्वजनिक निवेश- रेलवे और बिजली वितरण शामिल हैं।

एसोचैम के अध्यक्ष संदीप जाजोदिया ने कहा कि,

अगले कुछ सप्ताहों में जीएसटी के क्रियान्वयन से सरकार की अन्य प्रमुख पहलों को बल मिलेगा

Ass

 


कमेंट करें