नेशनल

नया नियम: पायलटों को नौकरी छोड़ने से पहले देना पड़ेगा एक साल का नोटिस

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
279
| मई 17 , 2017 , 20:50 IST | नई दिल्ली

पायलटों द्वारा नौकरी छोड़ने से पहले दिए जाने वाले नोटिस की समयसीमा को बढ़ाया गया है। बता दें कि सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने बुधवार को कहा कि पायलटों को अब नौकरी छोड़ने से पहले एक साल और को-पायलट्स को 6 माह पहले नोटिस देना होगा। इतना ही नहीं इस दौरान पायलट अपनी फ्लाइट ड्यूटी से इनकार नहीं कर सकते और न ही कंपनी उनके अधिकारों में कटौती कर सकती है।

Pilots

इसी दौरान सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने नो फ्लाई लिस्ट से जुड़े ड्राफ्ट नियम को सबके सामने पेश किया। इस लिस्ट को तीन वर्गों में बांटा गया है। सिविल एविएशन सेक्रेटरी आर एन चौबे ने तीनों वर्ग के नियमों के बारे में जानकारी दी और कहा कि इसके तहत 3 महीने से लेकर 2 साल तक का यात्रियों पर बैन लगाया जा सकता है।

Air-India

इस नियम के मुताबिक बुरे बर्ताव का दोषी पाए जाने पर एयरलाइन्स यात्रियों को तुरंत बैन कर सकती है, मगर ऐसे यात्रियों को तुरंत ही नेशनल नो-फ्लाई लिस्ट में नहीं डाला जाएगा। दरअसल, यात्रियों द्वारा बदसलूकी किए जाने का मामला सामने आने पर स्टैंडिंग कमेटी को 10 दिनों में फैसला करना होगा। फैसला होने तक यात्री को सफर करने की इजाजत नहीं होगी।

16-13-things-your-pilot-wont-tell-you-landing

दोषी पाए जाने पर यात्री पर बैन लगा दिया जाएगा। अगर कोई भी यात्री फिर से बदसलूकी करता है तो उस पर दोबारा बैन लगाया जा सकता है। बता दें कि मिनिस्ट्री ने संबंधित नौकरी छोड़कर जाने वाले पायलटों की नोटिस अवधि छह माह से बढ़ाकर एक साल कर दी है। यानि की उन्हें नौकरी छोड़ने से एक साल पहले और को-पायलट्स को छह माह पहले नोटिस देना पड़ेगा।


कमेंट करें