नेशनल

अतिक्रमण हटाने पर पटना में बवाल, हिंसा-आगजनी में पुलिस और JCB की गाड़ियां खाक

ललिता सेन, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
120
| सितंबर 5 , 2017 , 16:08 IST | पटना

बिहार की राजधानी पटना के राजीव नगर इलाके में मंगलवार को पब्लिक और पुलिस के बीच झड़प हो गई। पुलिस को हालात पर काबू पाने के लिए 20 राउंड फायरिंग करनी पड़ी।

दरअसल, राजीव नगर इलाके के घुड़दौड़ रोड पर अतिक्रमण हटाने गई टीम पर लोगों ने पथराव कर दिया। जिसमें एक टीआई समेत 6 पुलिसवाले घायल हो गए। गुस्साए लोगों ने तीन जेसीबी मशीन और पुलिस की जीप को आग के हवाले कर दिया। पुलिस की टीम हाउसिंग बोर्ड के अधिकारियों के साथ अतिक्रमण हटाने गई थी। क्षेत्र में अभी भी तनाव का माहौल है। 

पुलिस के अनुसार, राजधानी के दीघा-राजीव नगर इलाके के कृष्णा नगर में अवैध निर्माण हटाने गई पुलिस पर लोगों ने हमला कर दिया। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि अदालत के निर्देश के बाद मंगलवार को कृष्णा नगर में अवैध निर्माण को तोड़ने के लिए पुलिस की टीम जेसीबी के साथ पहुंची। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि फि लहाल स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।

लोगों का कहना है कि पुलिस बिना सूचना के आशियाना तोड़ने पहुंच गई। हम लोगों ने यहां की जमीन खरीदी और इस पर घर बनाया है और अब पुलिस अचानक घर तोड़ने पहुंच गई। अब हम कहां जाएंगे?

वहीं, घटनास्थल पर पहुंचे दीघा क्षेत्र के विधायक संजीव चौरसिया ने कहा कि क्षेत्र की जनता समझदार है। सरकार से इस मामले को लेकर बातचीत पहले भी की गई है और फिर की जाएगी। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में लोग आक्रोशित हैं, उन्हें समझाने का प्रयास किया जा रहा है।

आपको बता दें कि, 1974 में राज्य सरकार ने किसानों से राजीव नगर की 1025 एकड़ जमीन लेकर हाउसिंग बोर्ड को देने का फैसला किया था। सरकार ने जमीन हाउसिंग बोर्ड के नाम तो कर दी थी, लेकिन इसके बदले में लोगों को कोई मुआवजा नहीं मिला। मुआवजा नहीं मिला तो लोगों ने जमीन पर कब्जा बनाए रखा और अवैध रूप से यहां मकान बनते गए।

वहीं, जिन लोगों ने किसानों से जमीन खरीदकर वहां अपना घर बनाया है, उनका कहना है कि जीवन भर की पूंजी लगाकर जमीन खरीदा और घर बनवाया। अब घर टूट जाएगा तो कहां जाएंगे।


कमेंट करें