नेशनल

पैरालंपिक खिलाड़ी दीपा मलिक से किया वादा भूले शिवराज, ट्वीट कर याद दिलाया

icon कुलदीप सिंह | 0
167
| जनवरी 1 , 1970 , 05:30 IST | भोपाल

मध्य प्रदेश सरकार रियो पैरालंपिक 2016 में सिल्वर मेडल जीतकर इतिहास रचने वाली भारत की खिलाड़ी दीपा मलिक से वादा करके भूल गई है। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान द्वारा वादा भूलने पर दीपा मलिक ने ट्वीट कर उनको वादा याद दिलाया है। जिस पर सीएम शिवराज सिंह ने रिट्वीट कर दीपा मलिक को जल्द ही सम्मानित करने की बात भी कही है।

दरअसल, सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सिल्वर मेडल जीतकर लाई दीपा मलिक को 13 सितंबर 2016 को 40 लाख रुपये देने का वादा किया था। लेकिन अब पूरा एक साल बीत चुका है, लेकिन सीएम साहब को अपना वादा याद नहीं है। आखिरकार अपने सम्मान के इंतजार में बैठी दीपा को ही सीएम शिवराज को उनके द्वारा किया गया वादा याद दिलाना पड़ा। इस बात से नाराज खिलाड़ी दीपा मलिक ने सीएम शिवराज को ट्वीट कर उनको वादा याद दिलाया। दीपा का ट्वीट देखकर सीएम ने तुरंत रिप्लाई करते हुए लिखा कि वह जल्द ही विक्रम अवॉर्ड प्रोग्राम में उन्हें सम्मानित करेंगे।

बता दें कि, दीपा मलिक ने रियो में गोला फेंक एफ-53 में सिल्वर मेडल जीतकर पैरालंपिक में मेडल हासिल करने वाली देश की पहली महिला खिलाड़ी बनी हैं। दीपा ने अपने छह प्रयासों में से सर्वश्रेष्ठ 4.61 मीटर गोला फेंका और यह सिल्वर मेडल हासिल करने के लिए पर्याप्त था।

भारत सरकार कर चुकी है सम्मानित

-दीपा ने अब तक भारत की राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 33 गोल्ड और 4 सिल्वर मेडल जीते हैं।

-दीपा भारत की एकमात्र ऐसी महिला बनीं जिसे हिमालय कार रैली में आमंत्रित किया गया है।

-2008 और 2009 में दीपा यमुना नदी में तैराकी और स्पेशल बाइक सवारी में हिस्सा लेकर दो बार लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा चुकी हैं।

- दीपा ने 2007 में ताइवान और 2008 में बर्लिन में जवेलिन थ्रो, तैराकी में हिस्सा लेकर सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल जीता है।

-पैरालंपिक खेलों में उल्लेखनीय उपलब्धियों के कारण दीपा मलिक को भारत सरकार ने अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया है।

-देश के प्रतिष्ठित उद्योगपति श्री नवीन जिंदल जी भी दीपा मलिक को देश का गौरव बढ़ाने के लिए सम्मानित कर चुके हैं।

Deepa

दीपा के कमर से नीचे का हिस्सा लकवा से ग्रस्त है। वह सेना के अधिकारी की पत्नी और दो बच्चों की मां हैं। 17 साल पहले रीढ़ में ट्यूमर के कारण दीपा का चलना असंभव हो गया था, दीपा के 31 ऑपरेशन हुए हैं जिसके लिए उनकी कमर और पांव के बीच 183 टांके लगे हैं। दीपा ने गोला फेंक के अलावा भाला फेंक, तैराकी में भाग लिया था। वह अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में तैराकी में पदक जीत चुकी है।


author
कुलदीप सिंह

Editorial Head- www.Khabarnwi.com Executive Editor - News World India. Follow me on twitter - @KuldeepSingBais

कमेंट करें