नेशनल

गाय मां और भगवान का दूसरा विकल्प है : हैदराबाद हाई कोर्ट

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
114
| जून 10 , 2017 , 14:43 IST | हैदराबाद

राजस्थान हाई कोर्ट के बाद अब हैदराबाद के एक जज ने शुक्रवार को गाय को लेकर एक बड़़ी टिप्पणी की है। जस्टिस बी शिवा शंकर राव ने माना कि गाय देश की पवित्र संपदा है। उन्होंने गाय को राष्ट्रीय धरोहर बताते हुए यह कहा कि गाय मां और भगवान का विकल्प है।

Cow-cow-cow-cow-cow

उन्होंने कहा कि गाय को राष्ट्रीय पशु का दर्जा मिलना चाहिए। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का जिक्र करते हुए कहा कि बकरीद के मौके पर मुस्लिम समुदाय के लोगों को स्वस्थ्य गाय को काटने का कोई संवैधानिक अधिकार नहीं है।

दरअसल, पशु व्यवसायी रामावत हनुमा की दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान जज ने यह बात कही। याचिकाकर्ता रामावत ने अपनी जब्त की गई 63 गायों की कस्टडी के लिए निचली अदालत का दरवाजा खटखटाया थाष जिसके बाद निचली अदालत ने याचिका खारिज कर दी, फिर उन्होंने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की।

D1b094a5421038de1691d56121cb32dc

याचिकाकर्ता रामावत ने कहा कि वह गायों को चराने के लिए अपने गांव के पास कंचनपल्ली गांव ले गया था। जबकि दूसरे पक्ष का कहना है कि रामावत गायों को बेचने ले जा रहा था ताकि बकरीद के दौरान गौमांस बेच सके। जिसके बाद जज ने याचिका खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला दिया।

इसके साथ ही जज ने आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के पशु डॉक्टरों को निर्देश दिया कि स्वस्थ गायों को दूध देने में असमर्थ बताने वाले डॉक्टरों पर भी कार्रवाई की जाएगी।


कमेंट करें