अभी-अभी

कन्हैया समेत अन्य छात्रों पर JNU की कार्रवाई को दिल्ली हाईकोर्ट ने किया खारिज

शाहनवाज़ ख़ान , ब्लॉगर | 0
85
| अक्टूबर 12 , 2017 , 18:43 IST | नयी दिल्ली

दिल्ली उच्च न्यायालय ने जेएनयू प्रशाशन की रिपोर्ट को ख़ारिज कर दिया है जिसके आधार पर कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अन्य छात्र नेताओं पर कारवाई की गयी थी।

राष्ट्रद्रोह के आरोप में घिरे जवाहरलाल नेहरू विश्विविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर अनुशासनहीनता के मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन ने मार्च 2016 में 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया था, वहीं दूसरे छात्र उमर खालिद को एक सत्र के लिए निलंबित करके 20,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था।

जेएनयू की 5 सदस्यों वाली उच्चस्तरीय जांच कमेटी ने इनके अलावा रामा नागा पर 20 हजार रुपये का जर्माना, आशुतोष कुमार को एक साल के लिए हॉस्टल से निष्काशन और 20,000 रुपये का जुर्माना, अनिर्बान भट्टाचार्य को 15 जुलाई और मुजीब गट्टू को दो सेमेस्टर के लिए निष्कासित कर दिया था। फैसले के मुताबिक भट्टाचार्य पर अगले पांच साल में जेएनयू में कोई भी पाठ्यक्रम करने पर रोक लगाया गया था।

जेएनयु प्रशाशन के इस फैसले को छात्रों ने सिरे से नकारा था और इसके खिलाफ न्यायालय का दरवाज़ा खटखटाया। अदालत ने 13 मई 2016 को छात्रों पर किये गए अनुशासनात्मक कार्रवाई पर सशर्त स्टे लगा दिया था और छात्रों से भूख हड़ताल समाप्त करने को कहा था।

Hst

आज आए कोर्ट के इस फैसले से सभी छात्र राहत की सांस लेंगे।

टैग्स: Kanhaiya kumar|JNUSU|Delhi HC

कमेंट करें